कज़ाकिस्तान में जारी हिंसा में 12 पुलिस कर्मियों की मौत, सुरक्षा बलों ने जवाबी फाइरिंग में प्रदर्शनकारियों को गोलियों से भूना- 12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

कज़ाकिस्तान में जारी हिंसा में 12 पुलिस कर्मियों की मौत, सुरक्षा बलों ने जवाबी फाइरिंग में प्रदर्शनकारियों को गोलियों से भूना

कज़ाकिस्तान:
12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan- कज़ाकिस्तान में जारी हिंसक प्रदर्शन के दौरान 12 पुलिस कर्मियों की मौत हो गई। वहीं सुरक्षा बलों की जवाबी फायरिंग में भी दर्ज़न भर प्रदर्शनकारियों की मौत होने की ख़बर है। जबकि सरकारी इमारतों में घुसे कुछ प्रदर्शनकारियों को आग के हवाले कर दिया है।12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

इससे एक दिन पुर्व प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन व महापौर के आफिस में घुस गए थे। राजधानी के रास्तों पर रूसी सुरक्षाबल तैनात हैं इसलिए राजधानी नूर सुल्तान में शांति बताई जा रही है। कज़ाकिस्तान में हिंसक प्रदर्शनों से निपटने के लिए रूसी सैनिक यहाँ पहुँचे थे। रूस की समाचार सेवा ‘स्पूतनिक’ के अनुसार “शहर में पुलिस कर्मियों को क़रीब 200 लोगों की भीड़ ने घेर लिया था जिस के बाद उन्हें गोली चलानी पड़ी।” उधर कज़ाकिस्तान के गृह मंत्रालय के अनुसार “अब तक 2 हज़ार से अधिक प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है।” 12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

आपको बता दें कि पिछले 3 दशकों सोवियत संघ से स्वतंत्रत होने के बाद से ही कज़ाकिस्तान सब से भीषण विरोध प्रदर्शनों का सामना कर रहा है। यहाँ पेट्रोलियम गैस ईंधन की क़ीमतों में हुई ज़बरदस्त वृद्धि को लेकर रविवार से शुरु हुए हिसंक विरोध प्रदर्शनों से फ़िलहाल कज़ाकिस्तान बुरी तरह प्रभावित है। देश के पश्चिम क्षेत्र से शुरु हुआ यह हिंसक प्रदर्शन अब अलमाती व कज़ाकिस्तान की राजधानी नूर-सुल्तान तक फ़ैल चुका है।12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

कज़ाकिस्तान में तरलीकृत पेट्रोलियम गैस का प्रयोग वाहन ईंधन के रूप में बड़े स्तर पर किया जाता है। लेकिन ईंधन की क़ीमत में हुई ज़बरदस्त बढ़ोतरी से यहाँ जनता में असंतोष की स्थिति के चलते हिंसक प्रदर्शन होने शुरु गए। हालाँकि कज़ाकिस्तान सरकार ने आर्थिक मुद्दों का निदान के निदान का प्रयास करते हुए गुरुवार को वाहन ईंधन पर 180 दिन की मूल्य सीमा व उपयोगिता दरों को बढ़ाने पर रोकने का ऐलान भी कर दिया था। 12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

अभी भी देश के राष्ट्रपति क़ासिम’जोमार्त तोकायेव इन हिसंक प्रदर्शनों को शान्त करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने सरकार के इस्तीफ़े को भी स्वीकार कर लिया है। राष्ट्रपति ने देश में फ़ैली इस अशान्ति के लिए किसी आतंकवादी समूह को ज़िम्मेदार ठहराया है। 12 policemen killed in ongoing violence in Kazakhstan

यह भी पढ़ें- यूपी के लखनऊ,अयोध्या सहित कई शहरों में देर रात महसूस हुए भूकंप के झटकेEarthquake in eastern UP

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]