Agnipath Scheme News Hindi: सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे हरियाणा और ओडिसा के दो युवकों ने ‘अग्निपथ’ स्कीम लागू होने से मायूस होकर की आत्महत्या

Agnipath Scheme News Hindi: सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे हरियाणा और ओडिसा के दो युवकों ने ‘अग्निपथ’ स्कीम लागू होने से मायूस होकर की आत्महत्या

हरियाणा-ओडिसा: Agnipath Scheme News Hindi- भारतीय सशस्त्र बलों में 4 वर्ष की भर्ती के लिये केन्द्र सरकार की नई ‘अग्निपथ योजना’ (Agnipath Scheme) के विरुद्ध देश में लगातार विरोध प्रदर्शन बढ़ता ही जा रहा है। जबकि सरकार और देश का मेन स्ट्रीम मीडिया का लगातार इस ‘अग्निपथ’ स्कीम को देश के युवाओं के लिये रोज़गार का सुनहरा अवसर बताते-बताते गला सूख चुका है, लेकिन देश का युवा यह बात मानने के लिये क़तई तैयार नहीं है कि यह ‘अग्निपथ’ स्कीम उनके भले के लिये ही है।

केन्द्र सरकार द्वारा लायी गयी इस ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर देश का युवा इतना इतना आक्रोशित और निराश है कि जहाँ एक ओर देश का युवा इस ‘अग्निपथ’ योजना के विरोध में सड़कों पर उतरकर तोड़फोड़ और आगजनी करता दिख रहा है वहीं इस नई सेना भर्ती स्कीम से सेना भर्ती की तैयारी कर रहे शान्त युवा बहुत निराश और हताश नज़र आ रहे हैं। इनमें बहुत से युवा तो ऐसे हैं जो डिप्रेशन में आ चुके हैं। (Agnipath Scheme News Hindi)

Agnipath Scheme News Hind

इसी बीच हरियाणा के रोहतक ज़िले और ओडिशा राज्य के बालासोर से दो बड़ी ही दुःखद ख़बरें सामने आयी है। पहली घटना हरियाणा के रोहतक से है जहाँ हरियाणा के रोहतक में जींद ज़िले के लीजवाना कलां गाँव निवासी 23 वर्षीय सचिन ने खुदकुशी कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार युवक सचिन ने रोहतक के देव कॉलोनी में बने एक पी.जी में गले में फंदा डालकर अपनी जान दे दी। सचिन ने भर्ती के मानकों के अनुसार ओवर एज होने के डर से यह क़दम उठाया है। (Agnipath Scheme News Hindi)

सचिन के परिजनों के अनुसार, सचिन ने दो वर्ष पूर्व सर्विसमैन कोटे के अन्तर्गत गोवा में सेना भर्ती के लिये फिज़िकल व मेडिकल टेस्ट पास कर लिया था। अब सचिन की आयु निकलती जा रही थी, और अब उसे लिखित परीक्षा का इन्तज़ार था। लेकिन परीक्षा रद्द होने से उसके संयम का बांध टूट गया और उसने मायूस होकर खुदकुशी कर ली। (Agnipath Scheme News Hindi)

दूसरी दुःखद घटना ओडिसा से है, जहाँ सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे ओडिसा के बालासोर में दयानिधिपुर गाँव के रजनीकांत मोहन्ती के पुत्र ने धनंजय मोहन्ती ने खुदकुशी कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस मृतक युवक के पिता ने ‘अग्निपथ’ स्कीम को ही अपने बेटे की खुदकुशी के कारक बताया है।

मीडिया में आ रही ख़बरों के अनुसार, युवा धनंजय मोहन्ती ने सेना में भर्ती के लिये डेढ़ वर्ष पूर्व अगस्त 2021 में ही अपना मेडिकल व फिजिकल टेस्ट पास कर लिया था। और वह अब लिखित परीक्षा की तैयारी कर रहा था। लेकिन सरकार द्वारा ‘अग्निपथ’ योजना की घोषणा के बाद सेना की लिखित परीक्षा रद्द करने की घोषणा के बाद यह खुदकुशी के क़दम उठाया है। धनंजय मोहन्ती के परिवार के अनुसार धनंजय का मानना ​​​​था कि शायद अब वह सेना में शामिल नहीं हो पायेगा। (Agnipath Scheme News Hindi)

धनंजय मोहन्ती ने खुदकुशी करने से पूर्व अपने छोटे भाई को ‘Sorry’ कहते हुए एक मैसेज और अपने Phone Pay एकाउंट की डिटेल्स भी साझा की है। अपने भेजे मेसेज में धनंजय मोहन्ती ने यह भी लिखा कि अब उनके माता पिता की ज़िम्मेदारी उनके 2 भाइयों पर है। और उसने मृत्यु के बाद अपने पिता रजनीकान्त और माँ सुमति से अपनी किडनी व आँखें दान करने का अनुरोध किया है। (Agnipath Scheme News Hindi)
यह भी पढ़ें- क्या अग्निपथ योजना के विरोध में आगजनी करने वालों के घरों पर भी चलेगा बुलडोजर..? बॉलीवुड एक्टर ने पूछा गोदी मीडिया एंकरों से सवाल

Agnipath Scheme Protest: क्या अग्निपथ योजना के विरोध में आगजनी करने वालों के घरों पर भी चलेगा बुलडोजर..? बॉलीवुड एक्टर ने पूछा गोदी मीडिया एंकरों से सवाल

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]