कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने फ़िर से कृषि क़ानूनों को वापस लाने के दिए नए संकेत- Agriculture Minister’s statement on bringing agriculture bills back

नागपुर: Agriculture Minister’s statement on bringing agriculture bills back- केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा अभी कुछ दिनों पहले ही कृषि क़ानूनों को वापस लेने के बाद जहाँ दिल्ली की सीमाओं पर एक साल से धरना से रहे किसान वापस लौट ही थे कि अब वहीं केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने फ़िर से कृषि क़ानून बिलों को वापस लाने के संकेत दिए हैं कि सरकार भविष्य में इन कृषि क़ानूनों को लेकर आगे बढ़ेगी।

उन्होंने वापस हुए इन नये कृषि क़ानूनों को कृषि सुधार वाला बताते हुए हुए कहा कि इनकी (कृषि बिलों) वापसी में कुछ ख़ास लोगों का हाथ है। अब केंद्रीय कृषि मंत्री के इस बयान के बाद किसान संगठनों में इस मुद्दे को लेकर एक बार फ़िर से चर्चा शुरु हो गई है। (Agriculture Minister’s statement on bringing agriculture bills back)

नरेन्द्र तोमर ने महाराष्ट्र में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि “हम कृषि संशोधन क़ानून लाये लेकिन कुछ लोगों को ये क़ानून पसन्द नहीं आया। यह आज़ादी के 70 वर्षों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक बड़ा कृषि सुधार था।” उन्होंने आगे कहा कि “नये कृषि क़ानून वापस हो गये हैं लेकिन सरकार निराश नहीं हुई, हम ने एक क़दम पीछे खींचा हैं लेकिन हम फ़िर से इस पर आगे बढ़ेंगे क्योंकि किसान ही भारत की रीढ़ हैं।”

यह भी पढ़ें- राजस्थान के जैसलमेर में वायुसेना के MIG-21 फाइटर जेट विमान क्रैशhttps://deshduniyatoday.com/income-tax-raid-at-renu-mishras-house-in-kannauj/

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]