Akhilesh Yadav Azamgarh: भाजपा को तो 100 खून माफ़…मुसलमान होगा तो चल जायेगा बुलडोज़र, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर उठाये सवाल, कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं की आपस मे हुई झड़प

Akhilesh Yadav Azamgarh: भाजपा को तो 100 खून माफ़…मुसलमान होगा तो चल जायेगा बुलडोज़र, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर उठाये सवाल, कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं की आपस मे हुई झड़प

 

 

 

आजमगढ़: Akhilesh Yadav Azamgarh- यूपी के आज़मगढ़ जनपद के दौरे पर पहुँचे समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने भाजपा को जमकर आड़े हाथों लेते योगी सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये।Akhilesh Yadav Azamgarh

मीडिया कर्मियों से बात करते हुए समाजवादी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि “बीजेपी को 100 खून माफ़ हैं, लेकिन इनके अलावा वहीं यदि कोई ग़रीब, पिछड़ा, समाजवादी से जुड़ा या कोई मुसलमान होगा तो बुलडोज़र चल जायेगा। (Akhilesh Yadav Azamgarh)

ये ही रणनीत है इनकी.. भाजपा के लोग कुछ भी करें.. उनके ख़िलाफ़ कुछ नहीं होगा।” उन्होंने कहा कि “हमारी संस्कृति मिली-जुली संस्कृति है। हम मिल-जुलकर रहे हैं। हमारी परम्परा एक दूसरे से जुड़ी हुई है। और यें लोग (भाजपा वाले) केवल नफ़रत की राजनीति कर रहे हैं।” (Akhilesh Yadav Azamgarh)

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि “बीजेपी की पूरी सरकार “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” की बात करती थी। लेकिन आज जब देश की पहलवान बेटियां धरने पर बैठी हैं तो इनका “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” नारा कहाँ गया? यह नारा बस इसलिये था कि नारियों, बेटियों से वोट मिल जायें।” (Akhilesh Yadav Azamgarh)

उन्होंने प्रदेश की योगी और योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि “मुख्यमन्त्री को साड़ी के क़ारोबार और बुनकरों की समस्या से कोई लेना देना नहीं है। उन्हें तो बस नर्सरी याद आती है, और वे (योगी) अपने आपको भूल जाते हैं कि, उन पर कौन-कौन से कितने मुक़दमे थे? (Akhilesh Yadav Azamgarh)

बता दें कि इसी कार्यक्रम में अखिलेश यादव की एक झलक पाने के लिये उमड़ी भीड़ में भगदड़ और अफरा तफ़री का माहौल भी बना। सपा कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गये। बताया जा रहा है कि इस दौरान कार्यकर्ताओं की भीड़ ने मीडिया से भी बदसलूकी की है।
यह भी पढ़ें- यूपी के आगरा में यमुना नदी में डूबने से 4 युवकों की हुई मौत, अन्तिम संस्कार के बाद यमुना में नहाने उतरे थे चारोंAgra 4 People Died Due To Srowning

Author: Farhad Pundir(Farmat)