Bihar Protest: एडीएम ने टीचर अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज के दौरान तिरंगे का किया घोर अपमान, राष्ट्रध्वज का सम्मान ज़रूरी था या अभ्यर्थियों की पिटाई?

Bihar Protest: एडीएम ने टीचर अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज के दौरान तिरंगे का किया घोर अपमान, राष्ट्रध्वज का सम्मान ज़रूरी था या अभ्यर्थियों की पिटाई?

पटना: Bihar Protest-
बिहार में एक अधिकारी द्वारा राष्ट्रध्वज तिरंगे का अपमान करने का मामला सामने आया है। यहाँ राजधानी पटना की सड़कों पर उतरकर शिक्षक अभ्यर्थियों द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इस दौरान पटना एडीएम केके सिंह जो मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात थे, उन्होंने अपना आपा खोते हुए एक प्रदर्शनकारी अभ्यर्थी के हाथ में तिरंगा होने की परवाह किये बग़ैर काफ़ी देर तक ख़ूब लट्ठ बरसाये।

एडीएम के के सिंह सीधे सीधे तिरंगे को निशाना बनाकर अभ्यर्थी को मारते रहे, मान लीजिये अगर अभ्यर्थी राष्ट्रध्वज के सम्मान की बात को समझते हुए अपने आप को बचाने के लिये तिरंगे को हाथ और सिर पर रख भी रहा था, तो क्या एडीएम साहब उसके पैर या टाँगों पर लट्ठ नहीं मार सकते थे अगर लट्ठ मारना ज़रूरी ही था तो? (Bihar Protest)

लेकिन मजिस्ट्रेट की ज़िम्मेदारी का पद संभाल रहे के के सिंह तब तक तिरंगे पर लट्ठ बरसाते रहें जब तक कि अभ्यर्थी लहूलुहान नहीं हो जाता। जब शिक्षक अभ्यर्थी ने लहूलुहान होने के बावजूद भी तिरंगे का सम्मान करते हुए तिरंगा हाथ से नहीं छोड़ा तो वहाँ मौजूद एक सुरक्षा बल के जवान ने अभ्यर्थी के हाथ से राष्ट्रध्वज लिया। लेकिन एडीएम को तब भी गुस्से में तिरंगे के सम्मान की बात ज़हन में नहीं आयी।

जब तिरंगे के इस प्रकार के घोर अपमान पर मीडिया कर्मियों ने ऐतराज़ जताया तो एडीएम के.के सिंह मीडिया कर्मियों से उलझने से पीछे नहीं हटे, और राष्ट्रध्वज के अपमान पर पूछे गये सवालों का जवाब दिये बग़ैर मौक़े से भागते नज़र आये। बता दें कि यह प्रोटेस्ट 7-वें चरण की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में CTET व BTET के शिक्षक अभ्यर्थियों को शामिल नहीं किये जाने से नाराज़ शिक्षक अभ्यर्थियों ने पटना में किया था। (Bihar Protest)

यह भी पढ़ें- तुर्की में सड़क हादसे के बाद बचाओ कार्य कर रहे लोगों को अनियंत्रित बस ने रौंदा, 35 लोगों की हुई मौतWorld News Turkey

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]