BJP संसदीय बोर्ड से हटाये गये नितिन गडकरी, नितिन गडकरी की जगह देवेन्द्र फडणवीस को लिया गया

BJP संसदीय बोर्ड से हटाये गये नितिन गडकरी, नितिन गडकरी की जगह देवेन्द्र फडणवीस को लिया गया

नई दिल्ली: BJP-
बीजेपी ने अपने संसदीय बोर्ड (parliamentary board) में एक बड़ा बदलाव करते हुए केन्द्रीय मन्त्री नितिन गडकरी और मध्यप्रदेश के मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान सहित कई नेताओं को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया है। पार्टी के अनुसार BJP ने अपनने संसदीय बोर्ड में अब किसी भी प्रदेश के मुख्यमन्त्री को नहीं रखा गया है, लेकिन नितिन गडकरी को संसदीय बोर्ड से बाहर करना अपने आप में चौकाने वाला है।

इस संसदीय बोर्ड में कुल 11 सदस्य हैं, जिस में पार्टी अध्यक्ष होने के नाते से जे.पी नड्डा, प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी, गृहमन्त्री अमित शाह, बी.एस येदियुरप्पा, सर्बानन्द सोनोवाल, पार्टी के संगठन महामन्त्री बीएल. संतोष, सुधा यादव, के.लक्ष्मण, इक़बाल सिंह लालपुरा, सत्यनाराय जटिया आदि सदस्य शामिल हैं।

साथ ही BJP की तरफ़ से नई चुनाव समिति का भी गठन किया गया है। इस नई समिति में बीजेपी ने कुल 15 सदस्यों को सम्मिलित किया गया है। यहाँ भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते जे.पी नड्डा ही इस समिति के मुखिया रहेंगे। इसमें भी प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी, अमित शाह, बी.एस येदियुरप्पा, सर्वानंद सोनोवाल, सुधा यादव, के.लक्ष्मण, भूपेंद्र यादव, इकबाल सिंह लालपुरा, सत्यनारायण जटिया, ओम माथुर, बीएल संतोष, वनथी श्रीनिवास और देवेन्द्र फडणवीस को सम्मिलित किया गया है।

महाराष्ट्र के गोंदिया में मालगाड़ी और पैसेंजर ट्रेन की टक्कर, 3 डब्बे पटरी से उतरे, 50 पैसेंजर घायल

लेकिन BJP की तरफ़ से किये गये इस परिवर्तन में सब से विशेष और हैरान करने वाली बात केन्द्रीय मन्त्री नितिन गडकरी को संसदीय समिति से बाहर करने को लेकर है। क्योंकि अगर देखा जाये तो नितिन गडकरी मोदी सरकार के दोनों ही कार्यकालों में बहुत चर्चित रहे हैं।

जब भी देश में मोदी कार्यकाल में विकास की बात होती है तो सब से ऊपर उनका ही सड़क एवं परिवहन मन्त्रालय का नाम आता है। हो भी क्यों न..आज देश में नितिन गडकरी के मन्त्रालय द्वारा जो देश में बड़े-बड़े हाइवे का जाल फ़ैल रहा है वह अपने आप में एक अभूतपूर्व परिणाम है।

और यह सब सम्भव हो रहा है नितिन गडकरी की अगुवाई में और उनकी प्रबल इच्छाशक्ति के कारण, लेकिन फ़िर भी पार्टी द्वारा उन्हें संसदीय बोर्ड से बाहर करना अपने आप में चौकाने वाला है।
यह भी पढ़ें- लव जेहाद का मुक़दमा दर्ज कराने वाली युवती ने कहा ‘मुझे भ्रमित करके फ़र्ज़ी तरीक़े से कराया गया पति व ससुरालियों के ख़िलाफ़ मुक़दमाPrayagraj News

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]