BKU Rakesh Tikait: राकेश टिकैत ने BKU के दो फाड़ होने पर दी प्रतिक्रिया,कहा सरकार के दबाव में छोड़ा कुछ लोगों ने संगठन

BKU Rakesh Tikait: राकेश टिकैत ने BKU के दो फाड़ होने पर दी प्रतिक्रिया,कहा सरकार के दबाव में छोड़ा कुछ लोगों ने संगठन

मुज़फ़्फ़रनगर:
BKU Rakesh Tikait: कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसानों के समर्थन में एक लम्बे समय तक धरना दिए जाने के चलते देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हुए भारतीय किसान यूनियन में आख़िरकार फूट पड़ ही गई है। और अब यह BKU संगठन संगठन दो हिस्सों में विभाजित हो गया है।

BKU संगठन में दो फाड़ होने के बाद चौधरी राकेश टिकैत मुज़फ्फ़रनगर सेर्कुलर रोड पर स्थित अपने आवास पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन कर कहा कि “कुछ लोग मजबूरीवश BKU (भारतीय किसान यूनियन) को छोड़कर चले गये है और उन्होंने अपना अलग संगठन बना लिया है।” राकेश टिकैत ने कहा कि “18 मई को BKU की कार्यकारिणी की एक बैठक करनाल में होने जा रही है, जहाँ पर संगठन की मज़बूती पर विचार विमर्श किया जायेगा।” उन्होंने कहा कि जो लोग BKU संगठन से अलग हुए हैं उनकी सूची 2 दिनों में जारी कर दी जायेगी।” (BKU Rakesh Tikait)

देश दुनिया टुडे के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कर सकते हैं।

राकेश टिकैत ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि “कुछ लोग सरकार के दबाव में BKU से अलग हुए हैं।” उन्होंने कहा कि “जो ख़बरें चल रही है कि भारतीय किसान यूनियन (BKU) का एक गुट संगठन से अलग हो गया है, यह बात बिल्कुल ठीक है।” राकेश टिकैत ने कहा कि “कुछ लोग उनके साथ रहते थे, उनको छोटे छोटे गाँवों से निकालकर लाये..उनको ओहदो पर बैठाया गया, 30 से 35 साल तक उन्होंने काम भी किया है। लेकिन कुछ विचार धाराओं में भिन्नता के चलते यें संगठन छोड़ कर चले गये हैं और उन्होंने अपना अलग संगठन बना लिया है।”

चौधरी टिकैत ने आगे कहा कि “संयुक्त मोर्चा में भी 550 से ज़्यादा किसान संगठन शामिल हैं, जिन्होंने संगठन छोड़कर अपना संगठन बनाया है अब उनका इस संगठन से कोई संबंध नहीं रहा है।” राकेश टिकैत ने आगे कहा कि “भाकियू (BKU) का रजिस्ट्रेशन भारतीय किसान यूनियन के नाम से है, इसके बाइलॉज में लिखा है कि “वह अराजनीतिक संगठन है जो चुनाव नहीं लड़ेंगे।” राकेश टिकैत ने कहा कि “कोई भी व्यक्ति भारतीय किसान यूनियन (BKU) नहीं लिख सकता है, अगर किसी को कोई संगठन बनाना है तो वह भारतीय किसान यूनियन (BKU) के साथ कुछ न कुछ अलग (शब्द) ज़रूर लिखेगा।” (BKU Rakesh Tikait)
यह भी पढ़ें- यूपी के मुसलमान डरकर नहीं बल्कि इन कारणों से बिना किसी विरोध के स्वीकार कर रहे हैं योगी सरकार के हर फ़ैसले को?
https://deshduniyatoday.com/uttar-pradesh-muslims/BKU Rakesh,Yogi Government and Muslims

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]