चीन चला तालिबान के नक़्शे क़दम पर, तिब्बत में महात्मा बुद्ध की 99 फीट ऊँची प्रतिमा की ध्वस्त- China Demolished Buddha Statue

चीन चला तालिबान के नक़्शे क़दम पर, तिब्बत में महात्मा बुद्ध की 99 फीट ऊँची प्रतिमा की ध्वस्त- China Demolished Buddha Statue

News Desk:
चीन की वामपंथी सरकार ने अफ़ग़ानिस्तान की तालिबान सरकार के नक़्शे क़दम पर चलते हुए तिब्बत में महात्मा बुद्ध की 99 फीट ऊँची प्रतिमा को ध्वस्त कर दिया है। और यह सब किया बौद्ध भिक्षुओं के सामने ही। जानकारी के अनुसार यह घटना तिब्बत के ड्रैगो खाम की बताई जा रही है। जहाँ बौद्ध भिक्षुओं द्वारा यह प्रतिमा 6 वर्ष पूर्व ही बनाई गई थी। इस विराट मूर्ति का ध्वस्तीकरण करने में 9 दिन का समय लग है। (China Demolished Buddha Statue)

महात्मा बुद्ध की प्रतिमा के ध्वस्तीकरण की पुष्टि रेडियो ‘फ्री एशिया’ ने सैटेलाइट तस्वीरों के साथ की है। तस्वीरों में पहले एक बड़े छाते के नीचे खड़ी सफ़ेद रंग की मूर्ति अब मलबा बन चुकी है। रिपोर्ट के अनुसार इस मूर्ति का निर्माण स्थानीय तिब्बती बौद्ध भिक्षुओं द्वारा 5 अक्टूबर-2015 को करवाया था और इसके निर्माण में लगभग $6.3 मिलियन डॉलर का खर्चा आया था। https://twitter.com/Nawin2018/status/1478627536426844161?s=20

China Demolished Buddha Statue- चाईना ने इस मूर्ति के ध्वस्तीकरण को देखने के लिए स्थानीय बौद्ध अनुयायियों/भिक्षुओं को मजबूर भी किया है। चीन की सरकार ने इस मूर्ति की अधिक ऊँचाई होने का बहाना बनाकर इसे ध्वस्त किया है। देश के रक्षा एवं रणनीति विश्लेषक ब्रह्म चेलानी ने चीन की इस हरकत को तालिबानी हरकत बताते हुए मूर्ति के चित्र के साथ अपने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि “चीन तालिबान के नक़्शे क़दम पर चल रहा है..तालिबान द्वारा बामियान में महात्मा बुद्ध की प्रतिमा को नष्ट करने के बाद अब चीनी अधिकारियों ने सिचुआन के एक तिब्बती क्षेत्र में बुद्ध की 99 फ़ीट की प्रतिष्ठित मूर्ति को ध्वस्त कर दिया है और तिब्बती बौद्ध भिक्षुओं को यह विनाश देखने के लिए मजबूर किया गया है।” (China Demolished Buddha Statue) https://twitter.com/Chellaney/status/1478738851527118851?s=20

बता दें कि तिब्बत के बौद्ध अनुयायी निवासियों पर लगातार चीनी अधिकारियों व पुलिस का अत्याचार जारी है। इस से पूर्व वे (चीनी अधिकारी) सिचुआन के लरंग बुद्धिस्ट एकेडमी को भी ध्वस्त कर चुके हैं। इस अभियान में हज़ारों बौद्ध अनुयायी और भिक्षुओं के घरों को भी तोड़ दिया गया था। (China Demolished Buddha Statue)

यह भी पढ़ें- जानिये क्या है इस चुनाव में प्रयोग हो रही cVIGIL ऐप, कैसे नागरिकों की शिकायत मिलने पर 100 मिनट के अन्दर मौक़े पर पहुँचेंगे EC के अधिकारीElection Commission cVIGIL App

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]