Communal Harmony in Churu: 3 दिव्यांग बच्चों का इलाज कराकर हार चुका था एक हिन्दू परिवार, लेकिन जानिये पड़ौसी मुस्लिमों ने इनके साथ क्या व्यवहार किया?

Communal Harmony in Churu: 3 दिव्यांग बच्चों का इलाज कराकर हार चुका था एक हिन्दू परिवार, लेकिन जानिये पड़ौसी मुस्लिमों ने इनके साथ क्या व्यवहार किया?

चुरू,राजस्थान: Communal Harmony in Churu- आज देश की एकता और अखंडता को नापसंद करने वाले कुछ स्वार्थियों की वजह से हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के बीच वैमनस्यता की एक ऊँची दीवार भले ही खड़ी हो चुकी हो, लेकिन देश से प्यार करने वाले वास्तविक देशभक्त अपनी इंसानियत के बलबूते देश की एकता, अखंडता और साम्प्रदायिक सौहार्द को क्षुण बनाये रखने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं। और इसका एक ताज़ा उदाहरण देखने को मिला राजस्थान के चुरू में।

दरसअल राजस्थान के चुरू निवासी सनवर्मल शर्मा के 3 बच्चे मानसिक रूप से बीमार हैं, पिता ने अपने बच्चों के इलाज पर काफ़ी पैसा ख़र्च दिया। यहाँ तक कि अपनी सारी ज़मीन-जायदाद भी बेच दी, जिसके बाद यह परिवार आर्थिक स्थिति से बुरी तरह टूट गया। लेकिन जब इस हिन्दू परिवार की आर्थिक स्थिति की कमज़ोरी की जानकारी मोहल्ले में रहने वाले मुस्लिम परिवारों को लगी तो इंसानियत और पड़ोसी होने के नाते सब ने मिलकर इस परिवार की पैसे से लेकर ज़मीन तक मदद की। (Communal Harmony in Churu)

पढ़िये क्या पूरा मामला?
सनवर्मल शर्मा जो कि चुरू शहर के वार्ड नम्बर 58 में रहते हैं, उनके 3 बच्चे हैं जिसमें 1 बेटा और 2 बेटियां हैं। दुर्भाग्यवश सनवर्मल शर्मा के तीनों ही बच्चे मानसिक रूप से बीमार हैं। अपने बच्चों के इलाज पर सनवर्मल शर्मा को अपनी सारी पुश्तैनी ज़मीन और घर सहित सब जायदाद बेचनी पड़ी, लेकिन फ़िर भी बच्चों की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। इसके बाद सनवर्मल शर्मा अपनी पत्नी सरला और दिव्यांग बच्चों के साथ इलाज के लिये दर-दर भटकने पर मजबूर हो गया। (Communal Harmony in Churu)

सनवर्मल शर्मा के वार्ड 58 से सटे वार्ड नम्बर 42 में बड़ी संख्या में मुस्लिम परिवार रहते हैं, जब यह बात इन मुस्लिम परिवारों तक पहुँची तो उन्होंने मानवीय संवेदना के आधार पर पड़ोसी होने के नाते सनवर्मल शर्मा की हर संभव सहायता करने का निर्णय लिया। इन मुस्लिम परिवारों ने मिलकर सनवर्मल शर्मा परिवार को 300 स्वायर गज़ ज़मीन और कुल 80,000 रुपये नक़द रुपये से सहायता की। और साथ ही उस ज़मीन पर एक कमरा बनाकर देते हुए भविष्य में हर संभव सहायता करने का भरोसा दिलाया। (Communal Harmony in Churu)

बता दें कि चुरू शहर वार्ड नम्बर 42 निवासी इस्हाक़ ख़ान इस पूरी मुहिम के सर्वेसर्वा हैं, इनके बेटे लतीफ़ ने सनवर्मल शर्मा को अपनी 2 बीघा ज़मीन में से यह 300 वर्ग गज़ की भूमि सनवर्मल शर्मा परिवार को सहायता स्वरूप भेंट की, जिसकी रजिस्ट्री भी करा दी गई है। लतीफ़ ने अपने दोस्त इस्लाम व अपने अन्य मोहल्ले के लोगों में सहयोग से ही नक़द राशि जुटाकर सनवर्मल शर्मा को भेंट की। फ़िलहाल चुरू के इस सराहनीय कार्य की मीडिया में भी ख़ूब चर्चा हो रही है। (Communal Harmony in Churu)
समाचार स्रोतasianetnews/ indiatimes

यह भी पढ़ें- मुरादाबाद में 3 मंज़िला इमारत में लगी आग से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की मौत5 Dead In Moradabad Fire

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]