बांग्लादेश में भी भारतीय उत्पादों का बायकॉट करने की उठी माँग, सड़कों पर उमड़ा जन सैलाब-Controversial remark case on Prophet

बांग्लादेश में भी भारतीय उत्पादों का बायकॉट करने की उठी माँग, सड़कों पर उमड़ा जन सैलाब-Controversial remark case on Prophet

ढाका: Controversial remark case on Prophet: बांग्लादेश के कई राजनीतिक संगठनों और (IAB) इस्लामी आन्दोलन बांग्लादेश, जमीयत उलमा-ए-इस्लाम बांग्लादेश द्वारा कल शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के बाद देशभर में बीजेपी नेताओं द्वारा की गई पैग़म्बर मोहम्मद स० पर टिप्पणी के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया गया।

इस दौरान इस्लामिक संगठनों ने अवाम और सरकार से सभी भारतीय उत्पादों का बहिष्कार करने का आह्वान किया। DNA की ख़बर के मुताबिक़ तुल मुकर्रम में राष्ट्रीय मस्जिद के दक्षिणी गेट पर विरोध प्रदर्शन में IAB (इस्लामी आन्दोलन बांग्लादेश) के नेताओं ने कहा कि “वे ढाका में भारतीय उच्चायोग की तरफ़ एक बड़ा सामूहिक जुलूस निकालेंगे व एक ज्ञापन भी सौंपेंगे।” (Controversial remark case on Prophet)

उन्होंने कहा कि “यदि पैग़म्बर पर विवादित टिप्पणी करने वालों को सज़ा नहीं दी जाती तो वे इसका विरोध जारी रखेंगे।” उन्होंने बीजेपी नेताओं की टिप्पणी की भर्त्सना करते हुए संसद में विरोध प्रस्ताव लाने की भी माँग की है।
इस दौरान इस्लामिक संगठनों के 100 से ज़्यादा समूहों ने देशभर में प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में नबीनगर-चन्द्र राजमार्ग को अवरुद्ध करना भी सम्मिलित रहा। (Controversial remark case on Prophet)

वहीं नारायणगंज में नारायणगंज उलेमा परिषद के बैनर तले विरोध प्रदर्शनकारियों ने शहर में DIT रेलवे मस्जिद के बाहर जुलूस निकाला। प्रदर्शन को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने अपनी सरकार से राजनयिक क़दम उठाने व विवादित टिप्पणी की निन्दा करने का भी आह्वान किया। (Controversial remark case on Prophet)
यह भी पढ़ें- सीकर में आत्मदाह करने वाले वकील को 27 घंटे बाद भी नहीं हुई चिता नसीब

Rajasthan News Lawyer Suicide Case: सीकर में आत्मदाह करने वाले वकील को 27 घंटे बाद भी नहीं हुई चिता नसीब

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]