केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की बेटी वीना व मोहम्मद रियास की शादी को मुस्लिम लीग नेता ने बताया नाजायज़-Controversial statement of LML leader Kallai

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की बेटी वीना व मोहम्मद रियास की शादी को मुस्लिम लीग नेता ने बताया नाजायज़-Controversial statement of LML leader Kallai

केरल: केरल में कांग्रेस की सहयोगी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के नेता अब्दुलर्रहमान कल्लई ने राज्य के मुख्यमन्त्री पिनराई विजयन की बेटी वीना और मोहम्मद रियास की शादी को शादी नहीं बल्कि अवैध संबंध बता दिया है। मुस्लिम लीग नेता ने यह विवादास्पद बयान गुरुवार को कोझिकोड में एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिया।IML leader called the marriage of Kerala CM's daughter illegal

राज्य की CPM सरकार के विरुद्ध बोलते हुए मुस्लिम लीग नेता अब्दुर्रहमान कल्लई ने कहा कि “डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष (मोहम्मद रियास) मेरे क्षेत्र के पुथियापला(दूल्हे) हैं,उनकी पत्नी कौन है? यह भी कोई शादी है? यह तो अवैध संबंध है, ऐसा कहने का हमारे अन्दर में साहस होना चाहिए।Controversial statement of LML leader Kallai

आपको बता दें कि वीना और रियास ने बीते वर्ष जून में केरल के तिरुवनंतपुरम में शादी की थी, यह इन दोनों की दूसरी शादी थी। शादी के दौरान रियास डीवाईएफआई (DYFI) के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे और मोहम्मद रियास ने इस वार्ड अप्रैल में यहाँ हुए विधानसभा चुनावों में कोझीकोड की बेपोर विधानसभा सीट से जीतकर विधायक बने थे और अपने ससुर विजयन की अध्यक्षता वाले केरल राज्य मंत्रिमंडल में PWD मंत्री के रूप में शामिल हुए।”Controversial statement of LML leader Abdur Rahman KallaiIML leader called the marriage of Kerala CM's daughter illegal

इंडियन मुस्लिम लीग नेता अब्दुर्रहमान कल्लई के इस बयान की राज्य में अब चारों ओर निन्दा होने लगी, सोशल मीडिया पर भी लोगों ने उन्हें खूब लताड़ा जा रहा है। वहीं DYFI ने भी मोहम्मद रियास और वीना के विरुद्ध अपमानजनक टिप्पणी के लिए इंडियन मुस्लिम लीग की ख़ूब आलोचना करने और राज्य में चारों तरफ़ अपनी बेईज्जज़ी होती देख अब्दुर्रहमान कल्लई ने कल शुक्रवार को इस पर माफ़ी भी माँग ली है।Controversial statement of LML leader Kallai

अपने बयान पर खेद व्यक्त हुए अब्दुर्रहमान कल्लई ने कहा कि “वह अपने भाषण में केवल निजी जीवन के धार्मिक पक्ष का ज़िक्र कर रहे थे, इसका उद्देश्य किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाना का नहीं था।”

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]