Deaths After Vaccination Case: कोविड-19 वैक्सीन लगवाने से हुई मौतों के लिए सरकार जिम्मेदार नहीं’ केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में दिया जवाब

Deaths After Vaccination Case: कोविड-19 वैक्सीन लगवाने से हुई मौतों के लिए सरकार जिम्मेदार नहीं’ केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में दिया जवाब

 

 

नई दिल्ली: Deaths After Vaccination Case- कोविड वैक्सीन के टीकाकरण के बाद हुई मौतों के मामले में केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि “कोरोना टीकाकरण से हुए प्रभाव के लिये सरकार को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है। लेकिन टीके के कारण हुई मौत के मामलों के लिये सिविल कोर्ट में मुक़दमा दायर कर मुआवज़े की माँग की जा सकती है।”Deaths After Vaccination Case

कोर्ट में केन्द्र सरकार ने यह भी कहा कि “मृतकों व परिजनों के प्रति उनकी गहरी संवेदनायें है लेकिन टीके (कोरोना वैक्सीन) के किसी भी प्रतिकूल प्रभाव के लिये सरकार को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता।” केन्द्र सरकार ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि कोविड 19 की वैक्सीन लगवाने को लेकर कोई भी क़ानूनी बाध्यता नहीं है।” (Deaths After Vaccination Case)

बता दें कि कोरोना वैक्सीन के नेगेटिव साइड इफेक्ट्स के कारण 2 बेटियों की मौत पर एक दम्पत्ति द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाख़िल की गयी याचिका पर सुनवाई के दौरान केन्द्र सरकार ने यह अपनी प्रतिक्रिया दी है। इस मामले में स्वास्थ्य परिवार कल्याण मन्त्रालय ने अपनी ओर से दिये एक हलफ़नामे में कहा कि “वैक्सीन के प्रयोग से होने वाली मौतों को लेकर मुआवज़ा देने के लिये सरकार को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता, ऐसा करना क़ानूनी तौर पर ग़लत होगा।” (Deaths After Vaccination Case)Deaths After Vaccination Case

केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को अपना यह जवाब 2 लड़कियों के माँ-बाप द्वारा दायर की गयी एक याचिका के बाद आया है। जिसमें याचिकाकर्ता के वकील द्वारा दायर की याचिका में कहा गया कि 2 बेटियों की मौत कोविड वैक्सीन लगने के बाद हुए साइड इफेक्ट्स के कारण हुई है।” सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त माह में मृत दोनों बच्चियों के माँ-बाप की याचिका पर केन्द्र सरकार को एक नोटिस जारी किया था। (Deaths After Vaccination Case)

सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई इस याचिका में याचिकाकर्ताओं ने मुआवज़े की माँग की थी। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ताओं के वकील ने कहा कि “याचिकाकर्ता की एक 18 वर्षीय बेटी को मई-2021 में कोविशील्ड की पहली ख़ुराक़ मिली और और उसकी जून-2021 में मौत हो गयी। वहीं दूसरी 20 वर्षीय बेटी को कोविशील्ड की पहली ख़ुराक़ जून-2021 में मिली और उसकी भी अगले ही महीने जुलाई-2021 में मौत हो गयी थी।
यह भी पढ़ें- दिल्ली पुलिस को हाईकोर्ट ने मौलाना साद को हजरत निज़ामुद्दीन मरक़ज़ की चाबीयां सौंपने का दिया निर्देशHigh Court Order On Markaz Case

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]