Dehradun’s Connaught Place will be demolished: जल्द ही जमींदोज़ होने जा रहा है देहरादून का व्यापारिक केन्द्र ‘कनॉट प्लेस’

Dehradun’s Connaught Place will be demolished: जल्द ही जमींदोज़ होने जा रहा है देहरादून का व्यापारिक केन्द्र ‘कनॉट प्लेस’, ब्रिटिश काल में दिल्ली के कनॉट प्लेस की तर्ज़ पर बनाया था सेठ मनसाराम ने

देहरादून:  Dehradun’s Connaught Place will be demolished- देहरादून का ‘कनॉट प्लेस’ जो अपने आप  में एक सदी के इतिहास समेटे हुए है, यह अब जल्द ही ध्वस्त होने के बाद अतीत के पन्नों में सिमट जायेगा। इस बिल्डिंग को 14 सितम्बर को खाली कराया जा रहा है। माना जा रहा है कि जल्द ही इस कनॉट प्लेस को धराशायी कर दिया जायेगा।

देहरादून के इस कनॉट प्लेस को ब्रिटिश काल में दिल्ली के कनॉट प्लेस की तर्ज़ पर देहरादून के बैंकर्स रहे सेठ मनसाराम ने बनवाया था। इन्होंने देहरादून में कई बड़ी बड़ी इमारतों का निर्माण कराया था, जिनमें से यह कनॉट प्लेस भी एक है। सेठ मनसाराम ने इस कनॉट प्लेस को बनवाने के लिये बॉम्बे से आर्किटेक्ट को बुलाया था। (Dehradun’s Connaught Place will be demolished)

इसके निर्माण हेतु सेठ मनसाराम ने कभी भारत इंश्योरेंश से 1 लाख 25 हज़ार रूपये का लोन लिया था। वर्ष-1930 से 1940 के दशक में यह कनॉट प्लेस देहरादून की पहली बड़ी और 3 मंज़िला इमारत थी। इसे उस समय के उत्तर-पश्चिम भारत क्षेत्र जो कि अब पकिस्तान है, यहाँ के व्यापारियों के ठहरने के लिये बनाई गई थी। (Dehradun’s Connaught Place will be demolished)

Dehradun's Connaught Place will be demolished
देहरादून कनॉट प्लेस की पुराना चित्र

वर्ष 1930-1940 के दशक में तैयार हुई इस ऐतिहासिक बिल्डिंग में लगभग 150 कमरे और 70 से अधिक दुकाने बनायी गयी थी। सेठ मनसाराम ने इस बिल्डिंग को देहरादून में एक बड़ा बिजनेस सेंटर बनाने की मंशा से इसे तैयार तो कर लिया था, लेकिन बिल्डिंग तैयार होने के बाद सेठ मनसाराम ने भारत इन्स्योरेन्स से लिया 1 लाख 25 हज़ार रुपये का ऋण वापस नहीं करने की स्थिति में डिफॉल्टर हो गये। (Dehradun’s Connaught Place will be demolished)

इसके बाद सेठ मनसाराम की कनॉट प्लेस सहित कई सम्पतियों पर भारत इन्स्योरेंश कम्पनी ने अपने अधिकार में ले लिया था, जो कि बाद में LIC (लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन) के पास चली गयी थी। तब से लेकर आज तक इस बिल्डिंग में रहने वाले लोगों व LIC के मध्य विवाद चला आ रहा है। (Dehradun’s Connaught Place will be demolished)

विवादित होने की वजह से इस बिल्डिंग की मरम्मत न होने के चलते आज यह जर्जर अवस्था में है, जो कि ख़ुद ही  कभी भी ढह सकती है। लेकिन अब इस विवादित बिल्डिंग को गिरासू घोषित कर धराशायी करने की बात सामने आ रही है। क्योंकि 14 सितम्बर को इस कनॉट प्लेस बिल्डिंग को ख़ाली कराया जा रहा है। (Dehradun’s Connaught Place will be demolished)
यह भी पढ़ें- हिमाचल के ऊना में हुए एक सड़क हादसे में कार सवार 5 लोगों की दर्दनाक मौतUna Road Accident

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]