अपहरण के भय से चलते ऑटो से कूद गई युवती,कहा हड्डियां टूटने से बेहतर हुआ- Due to the fear of kidnapping, the girl jumped from the auto

अपहरण के भय से चलते ऑटो से कूद गई युवती,कहा हड्डियां टूटने से बेहतर हुआ– Due to the fear of kidnapping, the girl jumped from the auto

गुरुग्राम/हरियाणा:
गुरुग्राम: NCR/दिल्ली से सटे हरियाणा के शहर गुरुग्राम की एक युवती ने अपने ट्विटर पर एक लम्बा थ्रेड लिखकर अपनी आप बीती बताते हुए लिखा कि “कथित रूप से उन्हें ऑटो वाला अगवा करने का प्रयास कर रहा था..इस कारण उसे चलती ऑटो से ही कूदना पड़ा।” युवती के ट्वीट के अनुसार घटना गुरुग्राम (गुड़गांव) के सेक्टर-22 में हुई जहाँ से उसके घर का रास्ता मात्र 7 मिनट का है। (Due to the fear of kidnapping, the girl jumped from the auto)

युवती के प्रोफाईल के अनुसार कम्युनिकेशन्स स्पेशलिस्ट के तौर पर काम करने वाली युवती ने आरोप लगाया कि “ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने जान बूझकर रॉंग टर्न लिया था और ऑटो को अनजानी सड़क पर ले जा रहा था जिस का उसने विरोध किया लेकिन ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने उसका कोई जवाब नहीं दिया।”

युवती ने ट्वीट किया कि “कल का दिन मेरी ज़िन्दगी के सब से डरावने दिनों में से एक था..क्योंकि मुझे लगता है कि मुझे लगभग अगवा कर ही लिया गया था। मैं नहीं जानती वह क्या था? लेकिन अब भी मेरे रौंगटे खड़े हो रहे हैं। दोपहर क़रीब 12:30 बजे मैंने घर जाने के लिए सेक्टर-22 के व्यस्ततम बाज़ार से एक ऑटो लिया जो मेरे घर से मात्र 7 मिनट की दूरी पर है।” (Due to the fear of kidnapping, the girl jumped from the auto)

युवती आगे लिखती है कि “वह (ऑटो ड्राइवर) अच्छी ख़ासी तेज़ आवाज़ में भजन सुन रहा था। हम एक T-प्वाइंट पर पहुँचे जहाँ से मेरे घर के सेक्टर के लिए दाएं मुड़ना था लेकिन वह बायें (दिशा) मुड़ गया..मैंने उस से पूछा कि आप बायें क्यों मुड़ रहे हो? उसने नहीं सुना और वह ज़ोर ज़ोर से ऊपर वाले (अपने धर्म के आसार भगवान) का नाम लेने लगा। मैं सचमुच चीखी- भैया मेरा सेक्टर राइट (दायें) में था तो आप लेफ़्ट (बायें) क्यों लेकर जा रहे हो? उसने (ड्राइवर) कोई जवाब नहीं दिया और वह काफ़ी ऊँची आवाज़ में ऊपर वाले का नाम लेता रहा। मैंने उसके बायें कन्धे पर 8-10 बार मारा भी..लेकिन कुछ नहीं हुआ। उस वक्त मेरे दिमाग़ में सिर्फ़ एक ख़्याल आया कि..बाहर कूद जाओ। स्पीड 35 -40 (किमी) थी और इस से पहले कि वह स्पीड को बढ़ाता मेरे पास बाहर कूद जाने के अलावा कोई विकल्प ही नहीं था। मैंने सोचा..ग़ायब हो जाने से हड्डियों का टूट जाना बेहतर रहेगा। और मैं चलते हुए ऑटो से बाहर कूद गई। मैं नहीं जानती इतनी हिम्मत मेरे भीतर कहाँ से आयी?”

Due to the fear of kidnapping, the girl jumped from the auto- युवती का कहना है कि वह ऑटो रिक्शा का नम्बर नोट नहीं कर पाई थी, पुलिस ऑटो ड्राइवर की तलाश के लिए उस इलाक़े में लगे सभी CCTV कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। गुरुग्राम के पालम विहार पुलिस अधिकारी जितेंद्र यादव ने कहा है कि वे उस ऑटो रिक्शा ड्राइवर को तलाश कर लेंगे।

यह भी पढ़ें- राजस्थान के अलवर में AC के वेयरहाउस में लगी भीषण आग, 50 करोड़ रुपये के 44 हज़ार AC जलकर राखfire in AC godown in alwar, 44 thousand AC burnt

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]