Former DGP Sheeshpal Tweet: पूर्व DGP की नोबल शान्ति पुरस्कार की लिस्ट में 3 भारतीयों के नाम शामिल होने पर नाराज़गी, कहा ‘अब घोड़ों की रेस में गधे भी दौड़ेंगे’ हुए बुरी तरह ट्रॉल

Former DGP Sheeshpal Tweet: पूर्व DGP की नोबल शान्ति पुरस्कार की लिस्ट में 3 भारतीयों के नाम शामिल होने पर नाराज़गी, कहा ‘अब घोड़ों की रेस में गधे भी दौड़ेंगे’ हुए बुरी तरह ट्रॉल

 

Former DGP Sheeshpal Tweet On Nobel Peace Prize-2022: दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित नोबेल शान्ति पुरस्कार का ऐलान आज 7 अक्टूबर को नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में होने जा रहा है। इस बार नोबेल शान्ति पुरस्कार-2022 के लिये नामांकित 343 उम्मीदवारों में Alt News के पत्रकार प्रतीक सिन्हा व मोहम्मद ज़ुबैर के भी शामिल हैं।

लेकिन नोबेल शान्ति पुरस्कार-2022 की इस लिस्ट में इन 2 भारतीय पत्रकारों के नाम शामिल होने पर जम्मू कश्मीर के पूर्व DGP ने कड़ी नाराज़गी जताते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट शेयर किया है, जिसमें Alt News के मोहम्मद ज़ुबैर और प्रतीक सिन्हा को मीम के माध्यम से गधे क़रार देते हुए लिखा “अब घोड़ों की रेस में गधे भी दौड़ेंगे”। (Former DGP Sheeshpal Tweet)

वहीं पूर्व DGP के इस ट्वीट पर पत्रकार रोहिणी सिंह ने कॉमेंट में लिखा हैं कि “दुर्भाग्य की बात है कि, आप (पूर्व DGP शीशपाल वैद) इतने वरिष्ठ IPS और ज़िम्मेदार पद पर रह चुके हैं, और अब IT Cell ट्रोल तक सिमट गये हैं?…रोहिणी सिंह ने आगे कहा कि “अगर रिटायरमेंट के बाद आपको (पूर्व DGP शीशपाल वैद) समय बिताना मुश्किल लगता है, तो बाग़वानी करने लगो या फिर टोकरियां बुनने की कोशिश क्यों नहीं करते..?Former DGP Sheeshpal Tweet

वहीं एक और पत्रकार साक्षी जोशी ने भी इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए लिखा कि “IPS बनकर भी ट्रोल की उपाधि मिल रही है, प्रतीक सिन्हा और ज़ुबैर को दुनिया जान रही है..समझो इनकी तक़लीफ़। और पत्रकार अभिषेक आनन्द लिखते हैं कि “आप तो रिटायर हो चुके हैं..खुलकर क्यों नहीं लिखते जब आप इस फील्ड में उतर ही चुके हो तो? (Former DGP Sheeshpal Tweet)

वहीं शीशपाल वैद के ट्वीट पर सयक नाम के एक यूज़र ने सवाल किया कि “आपने (पूर्व DGP शीशपाल वैद) UPSC और CSE का एग्ज़ाम पास कैसे किया था? वहीं रिशु नाम से एक और ट्विटर यूज़र ने लिखा कि “अरे आपका यह मीम पढ़कर तो जोर की हँसी आयी है। (Former DGP Sheeshpal Tweet)

यह भी पढ़ें- कर्नाटक में हिन्दुत्वादियों की भीड़ ने ताला ऐतिहासिक मदरसे-मस्जिद में ज़बरदस्ती घुसकर की पूजाDictatorship of Hindus in Karnataka

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]