Gujrat Drugs Smuggling-तस्करी का अनूठा Crime फंडा: हेरोइन के घोल में धागा डुबोकर भेजा जा रहा था भारत, 450 करोड़ रुपये की ड्रग्स सीज़

  • तस्करी का अनूठा फंडा: हेरोइन के घोल में धागा डुबोकर भेजा जा रहा था भारत, 450 करोड़ रुपये की ड्रग्स सीज़- Gujrat drugs smuggling,News Hindi

अहमदाबाद : 
Gujrat Drugs Smuggling-गुजरात ATS और DRI ने गुजरात में हेरोइन की एक बड़ी खेप पकड़ी है।तस्करों द्वारा हेरोइन के घोल में धागों को डुबोकर कंटेनरों में भारत भेजा जा रहा था। क्योंकि गुजरात में धागे के नाम पर कोई विशेष जाँच नहीं होती है इसलिये तस्कर इस बात का फ़ायदा उठाकर इस प्रकार के अनूठे प्रयोग से हेरोइन की तस्करी कर रहे थे।

गुजरात ATS (आतंकवाद रोधी दस्ते) और DRI (राजस्व खुफिया निदेशालय) की टीमों ने अपने एक संयुक्त अभियान में अमरेली ज़िले के पिपावाव बन्दरगाह पर पहुँचे एक शिपिंग कंटेनर से 90 किलोग्राम मादक पदार्थ हेरोइन बरामद की है। जिसकी क़ीमत लगभग 450 करोड़ रुपये आंकी जा रही है। (Gujrat drugs smuggling,News Hindi) ● मोदी के एक मन्त्री उतरे मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के विरोध में, कहा हूँ मोदी के साथ लेकिन उनकी पार्टी देगी मस्जिदों को संरक्षण

बता दें कि तस्करों द्वारा इन धागों की गाठों को पहले हेरोइन के घोल में अच्छी तरह डूबाकर रखते थे। जब घोल के ज़रिए हेरोइन धागों में ऑब्ज़र्व हो जाती है। इसके बाद ये लोग इन गाठों को सूखाने के बाद पैक करके ट्रांसपोर्ट कर रहे थे। गुजरात पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने इन तस्करों की तस्करी के इस अनूठे फंडे के सिंडिकेट का ख़लासा किया है।

Gujrat drugs smuggling,News Hindi
सांकेतिक चित्र

 

इस संबंध में गुजरात पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने कहा कि “अधिकारियों को चकमा देने के लिये इस ड्रग सिंडिकेट ने एक अनोखा ही तौर तरीक़ा लागू किया हुआ था। जिस में हेरोइन के घोल में धागों को भिगोया जाता था फ़िर बाद में उसे सुखाया जाता था। इसके बाद धागे की गांठें बांधकर निर्यात के लिये बैग में पैक किया जाता था।” (Gujrat drugs smuggling,News Hindi)

पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने बताया कि “धागे के बड़े बैग वाले कंटेनर लगभग 5 महीने पहले ईरान से पिपावाव बन्दरगाह पर पहुँचे थे। लगभग 395 किलोग्राम वज़न वाले इन इन 4 संदिग्ध बैगों के फोरेंसिक विश्लेषण से पता चला कि इस धागे में 90 किलोग्राम अफ़ीम डेरिवेटिव अथवा हेरोइन थी। जिसकी क़ीमत 450 करोड़ रुपये है।’

वहीं DRI (राजस्व खुफिया निदेशालय) ने बताया कि “हेरोइन से लथपथ इन धागे वाले बैगों को अधिकारियों द्वारा पता लगाने से बचने के लिये सामान्य धागे की गाँठ वाले बैगों के साथ भेज दिया गया था।” उन्होंने बताया कि “धागों में मिली हेरोइन को जल्द निकाला जायेगा। फ़िलहाल ड्रग्स को NDPS अधिनियम-1985 के प्रावधानों के अंतर्गत DRI द्वारा जाँच के बाद ज़ब्त कर लिया गया है। (Gujrat drugs smuggling,News Hindi)
यह भी पढ़ें- पंजाब के अजनाला में कुएं से बरामद सैकड़ों मानव कंकालों का 160 वर्ष पुराने रहस्य से पर्दा उठा, Sad, जानें क्या है यह मामला?Ajnala Skeleton,News In Hindi

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]