Gwalior: रिटायर्ड फ़ौजी ने कलेक्टर से कहा “मजबूर मत करो बन्दूक उठाकर पान सिंह तोमर बन जाऊँगा”

Gwalior Retired Army soldier: रिटायर्ड फ़ौजी ने कलेक्टर से कहा “मजबूर मत करो बन्दूक उठाकर पान सिंह तोमर बन जाऊँगा”

मध्यप्रदेश:
मध्यप्रदेश के ग्वालियर में जन सुनवाई के दौरान एक रिटायर्ड फ़ौजी ने ज़िले के कलेक्टर के सामने चेतावनी देते हुए कहा कि “मजबूर मत करो वरना बन्दूक उठाकर मैं पान सिंह तोमर बन जाऊँगा।” रिटायर्ड फ़ौजी ने ज़िलाधिकारी से अपनी परेशानी बताते हुए कहा कि “सिस्टम के माफ़िया और पुलिसवाले मुझे पान सिंह तोमर बनने के लिए मजबूर कर रहे हैं। क्या मुझे भी अपने परिवार के हक़ की लड़ाई के लिये बन्दूक उठाना पड़ेगी।”

रिटायर्ड फ़ौजी की इस बात को सुनकर कलेक्टर साहब के भी होश उड़ गये और उन्होंने तत्काल क्षेत्रीय SDM को फ़ौजी के इस मामले की पूरी जाँच के आदेश देते हुए दोषियों को उनके आफिस में हाजिर करवाने का आदेश दिया। ये ही नहीं कलेक्टर साहब ने दो दिनों के भीतर ही रिटायर्ड फौजी को उसके प्लॉट पर क़ब्ज़ा दिलाने का भी फ़ैसला दे दिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ ग्वालियर के ‘लाल टिपारा गौशाला’ के नज़दीक रहने वाले एक रिटायर्ड फौजी रघुनाथ सिंह तोमर ने जन-सुनवाई कार्यक्रम में कलेक्टर को बताया कि “उनके द्वारा वर्ष-2011 में ग्वालियर के साईं नगर में एक प्लॉट ख़रीदा था लेकिन जब वह विगत अगस्त महीने में 22 वर्ष की फ़ौज की नौकरी से रिटायर हुए तो उन्होंने अपने ख़रीदे हुए प्लॉट पर अपना मकान तैयार करना चाहा। लेकिन जब उन्होंने प्लॉट पर जाकर देखा तो वहाँ दबंगों ने उसके प्लॉट पर क़ब्ज़ा कर रखा है।”

रिटायर्ड फ़ौजी रघुनाथ सिंह तोमर ने बताया कि “उसे पता चला कि बदमाशों ने उसके प्लॉट को कई बार रीसेल करते हुए बेच भी दिया है। जब भी मैं अपने प्लॉट पर मकान बनवाने के लिये पहुँचता हूँ तो दबंग उन्हें जान से मारने की धमकी देते है।..उन्होंने कई बार इसकी शिकायत संबंधित थाने में भी की लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। और अब स्थिति यह बन गई है कि सिस्टम मुझे पान सिंह तोमर की तरह ही बाग़ी होने पर मजबूर कर रहा है।” फ़ौजी ने कहा कि “यदि अब मुझे पुलिस प्रशासन से कोई मदद नहीं मिलती है तो मैं पान सिंह तोमर की तरह बन्दूक उठाने को मजबूर हो जाऊँगा।”

यह भी पढ़ें- हमने सदियों पुरानी तीन तलाक़ पर क़ानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को सुरक्षा का भरोसा दिलायाPM Modi,Saharanpur

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]