गुजरात: अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद के मंच से जहाँ मुस्लिम बेटियों के ख़िलाफ़ वैमनस्यता और बदज़ुबानी की सीमा लांघते हुए हुई विवादित बयानबाज़ी- Hate speech against Muslims from AHP’s platform in Gujarat

गुजरात: अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद के मंच से जहाँ मुस्लिम बेटियों के ख़िलाफ़ वैमनस्यता और बदज़ुबानी की सीमा लांघते हुए हुई विवादित बयानबाज़ी

गुजरात: 
Hate speech against Muslims from AHP’s platform in Gujarat-प्रवीण तोगड़िया का अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद (AHP)’ मुस्लिम महिलाओं के साथ “जबरन शादी” करने की बदज़ुबानी की सीमा पार करते हुए अश्लीलता तक आ चुका है। गुजरात मे 5000 त्रिशूलों के वितरण के लिये AHP द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मुस्लिम महिला विरोधी भाषण का नेतृत्व करते हुए प्रवीण तोगड़िया के सहयोगी मनोज कुमार ने कहा “इन कटुवों (दक्षिण पंथियों द्वारा मुसलमानों के लिये दी जाने वाली) को बतायें कि सलमा (मुस्लिम महिला) अपने बजरंगी (हिन्दू लड़कों )का इंतज़ार कर रही है…मुस्लिम पुरुष अब उसके लिये पर्याप्त नहीं हैं। वह अपना बुर्का हटाना चाहती है, और किसी राम से विवाह करके लव, कुश को जन्म देना चाहती है” (Hate speech against Muslims from VHP’s platform in Gujarat)

‘द इकोनॉमिक टाइम्स’ की 13 मार्च की एक रिपोर्ट के अनुसार “AHP के इस हथियार वितरण कार्यक्रम में कई दक्षिण पंथियों के साथ साथ क्षेत्र के सांसद दीपसिंह राठौर, विधायक राजू चावड़ा और VHP और बजरंग दल के सदस्यों ने हिसा लिया था। इस कार्यक्रम को ‘त्रिशूल दीक्षा समारोह’ नाम दिया गया था और कथित तौर पर हिम्मत नगर के स्वामी-नारायण मन्दिर में बजरंग दल उत्तर-गुजरात इकाई द्वारा आयोजित किया गया था।” (Hate speech against Muslims from VHP’s platform in Gujarat)

जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम में “साबरकांठा गाँव के 5,100 लोगों को हिन्दू धर्म और संस्कृति की निष्ठा व सुरक्षा की शपथ दिलाई गई थी और दीक्षा सेगमेंट के रूप में त्रिशूल दिये गये थे। इस संबंध में बजरंग दल के उत्तर-गुजरात कोऑर्डिनेटर ज्वलित मेहता ने बताया कि “इस प्रकार के कार्यक्रम अब आने वाले हफ़्तों में छोटे स्तर पर अन्य शहरों में भी आयोजित किये जायेंगे।” (Hate speech against Muslims from VHP’s platform in Gujarat)

आपको बता दें कि कर्नाटक,यूपी और अब गुजरात में भी इस तरह के रोज़ की नफ़रत फ़ैलाने वाले स्थान बन गये हैं जो हिंसा और हिंसात्मक परिवृत्ति को बढ़ावा दे रहे हैं। और ऐसा इसलिए किया जाता है कि ऐसी गतिविधियों से चुनावी लहर चलाई जा सके। क्योंकि कर्नाटक में आगामी वर्ष-2023 में और गुजरात में इसी वर्ष-2022 के आख़िर में चुनाव जो होने हैं। (Hate speech against Muslims from VHP’s platform in Gujarat)

यह भी पढ़ें- यूपी के सीतापुर में मस्जिद के बाहर जुलूस में महन्त ने विशेष वर्ग की बहन-बेटियों का रेप करने की दी धमकीSitapur Mahant Bajrang Muni controversial statement

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]