मैसूर के एक कॉलेज ने छात्राओं को दी हिजाब (Hijab) पहनने की अनुमति,यूनिफार्म रूल को रद्द किया

मैसूर के एक कॉलेज ने छात्राओं को दी हिजाब (Hijab) पहनने की अनुमति,यूनिफार्म रूल को रद्द किया

मैसूर: 
कर्नाटक में उच्च न्यायालय के आदेश बावजूद हिजाब विवाद रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। शुक्रवार को कर्नाटक में मैसूर के एक निजी कॉलेज ने अपने कॉलेज का यूनिफार्म रूल रद्द कर करने का फ़ैसला सुना दिया है। अब इस कॉलेज में मुस्लिम छात्राओं को कालेज में कक्षाओं में हिजाब (Hijab) पहनकर बैठने की इज़ाजत दे दी गई है। यह कॉलेज अब कर्नाटक का ऐसा फ़ैसला करने वाला पहला कालेज बन गया है।

Hijab
सांकेतिक छवि

वहीं तुमकुरु कॉलेज के 20 छात्रों के विरुद्ध कोर्ट निषेघाज्ञा के उल्लंघन करने का आरोप में प्राथिमिकी दर्ज की गई है। हाईकोर्ट द्वारा हिजाब या भगवा शॉल को ड्रेस के साथ पहनकर कॉलेज की कक्षाओं में प्रवेश न करने का आदेश जारी किया गया था।

ग़ौरतलब है कि कर्नाटक हाईकोर्ट के कलेजों में हिजाब (Hijab) को लेकर दिये गये अन्तरिम आदेश के बावजूद भी तुमकुरू के ‘गर्ल्स एम्प्रेस गवर्नमेंट पीयू कॉलेज’ में पिछले 2 दिनों से यहाँ पर पढ़ने वाली छात्रायें हिजाब पहनकर कालेज में प्रवेश कर रही थी जिस के बाद कॉलेज प्रबंधन ने तुमकुरु सिटी पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और इस मामले पर कार्यवाही करते हुए पुलिस दवाई बीस छात्राओं के विरुद्ध प्राथिमिकी दर्ज की गई है। ये वें छात्रायें हैं जिन्‍होंने 17-18 फरवरी को हिजाब नियम के विरुद्ध ख़ूब हंगामा काटा था।

यह भी पढ़ें- कर्नाटक हिजाब विवाद में प्रदर्शनकारी छात्रों के विरुद्ध पहली प्राथमिकी दर्जKarnataka hijab case

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]