International Religious Freedom Report US 2022-भारत में पूजा स्थलों पर बढ़ रहे हैं हमले, अमरीका द्वारा जारी की गई धार्मिक स्वतन्त्रता रिपोर्ट में कही यह भारत को चुभने वाली बात

International Religious Freedom Report US 2022-भारत में पूजा स्थलों पर बढ़ रहे हैं हमले, अमरीका द्वारा जारी की गई धार्मिक स्वतन्त्रता रिपोर्ट में कही यह भारत को चुभने वाली बात-

विदेश समाचार, वाशिंगटन:
International Religious Freedom Report US 2022- भारत में जैसे आजकल मस्जिदों के नीचे देवी-देवताओं की मूर्तियां अथवा मन्दिर होने के दावों का सुनियोजित प्रोपगेंडा चल रहा है। जिसकी की चर्चा पूरे विश्व में हो रही है। इसी प्रकरण पर गुरुवार को अमेरिका के विदेश मन्त्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि “भारत में पूजा स्थलों पर हमले काफ़ी बढ़ गये हैं। वहीं अमेरिका के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने भारत के सत्ता प्रतिष्ठान पर भी प्रश्न खड़े किये हैं। उन्होंने कहा कि “भारत में कुछ लोग इसे नज़रअंदाज़ कर रहे हैं या फ़िर ऐसे धार्मिक हमलों को अपना समर्थन दे रहे हैं।”

International Religious Freedom Report US

अमेरिकी विदेश मन्त्री एंटनी ब्लिंकन ने अपने विदेश मंत्रालय की तरफ़ से तैयार की गयी दुनिया भर में धार्मिक स्वतन्त्रता की स्थिति पर एक रिपोर्ट जारी करते हुए यह बात कही। इस दौरान एंटनी ब्लिंकन ने भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान, चाइना और अफ़ग़ानिस्तान जैसे देशों पर भी कुछ ऐसी ही टिप्पणी की। एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि इन देशों में भी धार्मिक स्वतन्त्रता पर ख़तरा बढ़ा है। ” (International Religious Freedom Report US 2022)

जबकि अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अपनी इस रिपोर्ट में भारत को विश्व का सब से बड़ा लोकतन्त्र देश भी बताया है। इस सम्बंध में एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि “भारत एक दुनिया का सब से बड़ा लोकतन्त्र देश है, जहाँ पर विभिन्न धर्मो और विभिन्न संप्रदायों के लोग रहते हैं, लेकिन हम देख रहे हैं कि भारत में बीते कुछ समय में पूजा स्थलों में अटैक बढ़े हैं।”

इनके अलावा अन्तर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतन्त्रता के मामलों के अमेरिका के राजनयिक रशद हुसैन ने भी इस संबंध में टिप्पणी करते हुए कहा कि “भारत में कुछ नेता (सत्तारूढ़) इन घटनाओं को नज़अंदाज़ कर रहे हैं और कुछ लोग तो इनका (धार्मिक स्थलों पर अटैक का) समर्थन भी कर रहें हैं।” (International Religious Freedom Report US 2022)

International Religious Freedom Report US

धार्मिक स्वतन्त्रता पर प्रतिबन्ध वाले देशों का ज़िक्र करते हुए अमेरिकी विदेश मन्त्री एंटोनी ब्लिंकन ने सऊदी अरब के साथ साथ, पाकिस्तान, चाइना और अफ़ग़ानिस्तान का भी नाम लिया। एंटोनी ब्लिंकन ने कहा कि “चाइना में मुस्लिम उइगर समुदाय व अन्य दूसरे अल्पसंख्यक समुदायों का दमन जारी है।” वहीं पाकिस्तान का ज़िक्र करते हुए कहा गया है कि “पाकिस्तान में वर्ष-2021 में कम से कम 16 लोगों पर ईशनिन्दा का मामला दर्ज हुआ है और अदालत ने मौत की सज़ा सुनाई है।

बता दें कि “अमेरिकी विदेश मन्त्रालय की तरफ़ से प्रति वर्ष ‘International Religious Freedom Report’ (इंटरनेशनल रिलीजियस फ्री़डम) रिपोर्ट जारी की जाती है.जिस में दुनिया के सभी देशों में धार्मिक स्वतन्त्रता की वस्तुस्थिति पर टिप्पणी की जाती है। हालाँकि अमेरिका की तरफ़ से जारी होने वाली इंटरनेशनल रिलीजियस फ्री़डम रिपोर्ट पर भारत जैसे बड़े देशों को नागवार गुज़रता है। (International Religious Freedom Report US 2022)

बीते दिनों भी भारत के विदेश मन्त्री एस.जयशंकर के अमेरिका दौरे के समय भी अमेरिकी मीडिया ने भारत में धार्मिक स्वतन्त्रता के मुद्दे पर सवाल पूछा गया था। जिस के जवाब में एस. जयशंकर ने भारत की मुस्लिम तंजीमों का उदाहरण देते हुए भारत में साम्प्रदायिक सौहार्द की एक सकारात्मक स्थित का उदाहरण देकर बड़े सलीक़े के साथ अमेरिकी मीडिया को जवाब दिया था।

International Religious Freedom Report US
उस दौरान विदेश मन्त्री एस. जयशंकर ने क़रारा जवाब देते हुए कहा था कि “अमेरिका में भी ऐसे मामले देखने में आते हैं।” हालांकि फ़िलहाल तक अमरीकी विदेश मन्त्रालय द्वारा जारी ‘International Religious Freedom Report’ रिपोर्ट और विदेश मन्त्री एंटोनी ब्लिंकन के भारत में बढ़ रही पूजा स्थलों पर हमले बढ़ने वाले बयान पर भारत की तरफ़ से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आयी है। (International Religious Freedom Report US 2022)
यह भी पढ़ें- ज्ञानवापी में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने 4 जून को शिवलिंग पूजन करने का किया ऐलान,जबकि कोर्ट ने अभी तय भी नहीं किया कि यह केस सुनवाई के लायक है या नहीं

ज्ञानवापी में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने 4 जून को शिवलिंग पूजन करने का किया ऐलान,जबकि कोर्ट ने अभी तय भी नहीं किया कि यह केस सुनवाई के लायक है या नहीं-Announcement of worship in Gyanvapi campus

देश दुनिया टुडे के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।https://chat.whatsapp.com/DFOO8l94TWt6xaN9YS3vBD

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]