जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने जहाँगीरपुरी हिंसा पर किया ख़ुलासा, फोटोज़-वीडियोज़ और मौक़ा मुआयना के बाद बताया कि कौन थे जिनकी वजह से हुई यह हिंसा-Jahangirpuri violence

  • जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने जहाँगीरपुरी हिंसा पर किया ख़ुलासा, फोटोज़-वीडियोज़ और मौक़ा मुआयना के बाद बताया कि कौन थे जिनकी वजह से हुई यह हिंसा-Jahangirpuri violence

दिल्ली : 18 अप्रैल-2022
Jahangirpuri violence- जहाँगीरपुरी हिंसा मामले में अब तक 22 लोगों की अरेस्टिंग हो चुकी है। वहीं दिल्ली जमीयत उलमा-ए-हिन्द के जनरल सेक्रेटरी अब्दुल राजिक और टीम के अन्य सदस्य घटनास्थल का मौक़ा मुआयना करने के बाद कहा कि “शोभा यात्रा में अलग से आकर लोगों ने मस्जिद में ज़बरन घुसने की कोशिश की और तभी दंगा शुरू हुआ।”

अब्दुल राजिक ने बताया कि “शोभा यात्रा 12:00 बजे से 3:00 बजे निकल चुकी थी और इस दौरान कुछ नहीं हुआ। इसके बाद फिर से दोबारा 3:00 बजे निकली और यहाँ के मुसलमानों ने शोभायात्रा का स्वागत किया। फ़िर तीसरी बार यहाँ यात्रा लेकर आते हैं और मस्जिद में ज़बरन घुसने की कोशिश करते हुए अपना भगवा झण्डा लगाने की कोशिश भी करते हैं।” (Jahangirpuri violence)

अब्दुल राजिक ने कहा कि “झण्डा लगाने वाले लोगों के विरुद्ध भी कार्यवाही हो और जो भी लोग पथराव कर रहे थे उन पर भी कार्यवाही हो। उन्होंने कहा शोभा यात्रा में अलग से कुछ लोग आकर मस्जिद में घुस रहे थे और यहीं से दंगा शुरु हुआ और तभी यहाँ बपथराव भी हुआ।”

उन्होंने आगे कहा कि “हम अमन का पैग़ाम लेकर यहाँ पहुँचे हैं और हमारी डीसीपी साहब से भी मुलाक़ात की है। हमने उन से गुज़ारिश की है कि कार्यवाही ऐसी हो कि यह संदेश न जाए कि कार्यवाही एक तरफ़ा हुई है। बल्कि जो दोषी हैं बचने नहीं चाहिये और बेकसूर फँसना नहीं चाहिये।” उन्होंने कहा कि “यहाँ जो कुछ भी हुआ है वह बेहद ग़लत हुआ है, हमारा मुल्क़ ऐसा नहीं है।” (Jahangirpuri violence)

वहीं दिल्ली पुलिस के पास भी हिंसा से जुड़ी बड़ी संख्या में फ़ोटो और वीडियोज़ पहुँच चुके हैं। पुलिस ने घटना की जाँच के लिए 10 टीमों का गठन किया है।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में शोभायात्रा के दौरान पत्थरबाज़ी तो कैराना में शोभायात्रा पर पुष्प वर्षाKairana communal harmony News

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]