Jaipur Crime News: राजस्थान में श्रद्धा हत्याकांड जैसी घटना की पुनरावृत्ति, भतीजे अनुज ने अपनी ताई सरोज के कटर से 10 टुकड़े करके जंगल में अलग-अलग जगह फेंके

Jaipur Crime News: राजस्थान में श्रद्धा हत्याकांड जैसी घटना की पुनरावृत्ति, भतीजे अनुज ने अपनी ताई सरोज के कटर से 10 टुकड़े करके जंगल में अलग-अलग जगह फेंके

 

जयपुर: Jaipur Crime News- एक बड़ी ख़बर राजस्थान के जयपुर से जहाँ पर श्रद्धा हत्याकांड जैसी एक और वीभत्स घटना की पुनरावृत्ति हुई है। दरअसल यहाँ एक भतीजे ने अपनी ही ताई का पहले हथौड़े से सिर फोड़ा इसके बाद मार्बल कटर से अपनी ताई के शव के 10 टुकड़े एक बाल्टी में रखकर जंगल में अलग-अलग स्थानों पर फेंके।

Jaipur Crime Newsयह घटना जयपुर (राजस्थान) के विद्याधरनगर क्षेत्र के लालपुरिया अपार्टमेंट सेक्टर-2 की है। जहां 11 दिसंबर को अनुज ने कथित तौर पर अपनी ताई सरोज शर्मा के सिर पर पहले हथौड़ा मारकर हत्या की फ़िर स्टोन कटर से शव के 10 टुकड़े किये। पुलिस ने आरोपी अनुज शर्मा बनाम अचिंत्य गोविन्ददास को अरेस्ट कर लिया है। और आरोपी की निशानदेही पर जंगल से शरीर के कुछ हिस्से भी बरामद कर लिये हैं। (Jaipur Crime News)

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार घटना को अंजाम देने के बाद अनुज शर्मा पुलिस स्टेशन पहुँचा और अपनी पुलिस में अपनी ताई की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। लेकिन अपराध कहाँ छुपता है, यह आरोपी अनुज शर्मा भी उस समय पकड़ा गया, जब वह अपने किचन में ख़ून के धब्बे धो रहा था तो मृतक ताई की बेटी पूजा ने देख लिया। पूजा ने इस बात की जानकारी पुलिस को दे दी और पुलिस ने आरोपी अनुज शर्मा को गिरफ़्तार कर लिया। (Jaipur Crime News)

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार बताया जा रहा है कि अनुज शर्माउर्फ़ अचिंत्य गोविन्ददास अपनी ताई द्वारा रोज़-रोज़ की रोक-टोक से परेशान था। बताया जा रहा है कि अनुज बी०टेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद ‘हरे कृष्ण आन्दोलन से जुड़ गया था, जबकि ताई चाहती थी कि पढ़-लिखकर वह नौकरी करे। लेकिन उसे ताई की यह बात बुरी लगती थी। (Jaipur Crime News)

विगत 11 दिसम्बर को को भी जब अनुज शर्मा ‘हरे कृष्ण आन्दोलन’ में भाग लेने के लिये दिल्ली जाने लगा तो ताई ने जाने से मना कर दिया। ताई की इस रोकटोक से अनुज शर्मा इस क़दर बौखला गया कि उसने बड़ी हैवानियत और बर्बरता से अपनी ताई की जान ही ले ली। (Jaipur Crime News)

ताई की हत्या करने बाद अनुज शर्मा अचिंत्य गोविन्ददास ने ताई के शव को ठिकाने लगाने के लिये उसने सीकर रोड से हार्डवेयर की एक दुकान से कटर मशीन ख़रीदी और फ़िर घर आकर कटर से शव के 10 टुकड़े किये और एक बाल्टी व सूटकेस में शव के टुकड़े भरकर जंगल में जाकर अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिये।
यह भी पढ़ें- बिहार में विषैली शराब पीने से अब तक 73 लोगों की मौत होने की ख़बर, आधिकारिक तौर पर 34 शवों का हो चुका है पोस्टमार्टमDeath Due To Spurious Liquor In Bihar

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]