Kanpur Auto Driver Suicide: वाहनों के कमरतोड़ ई-चालान बने जनता की मुसीबत, कानपुर में 22 हज़ार रुपये का चालान कटने पर ऑटो चालक ने की ख़ुदकुशी

Kanpur Auto Driver Suicide: वाहनों के कमरतोड़ ई-चालान बने जनता की मुसीबत, कानपुर में 22 हज़ार रुपये का चालान कटने पर ऑटो चालक ने की ख़ुदकुशी

कानपुर: Kanpur Auto Driver Suicide-
देश में बढ़ती मँहगाई, घटता रोज़गार और ऊपर से केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ायी गयी बेतहाशा चालान राशि देश की जनता के लिये इतनी बड़ी मुसीबत बनकर उभर रही है कि लोग वाहनों के इतनी बड़े बड़े चालान होने पर सदमे में आ रहे हैं। कई बार तो यें चालान वाहनों की क़ीमत के बराबर या वाहनों की क़ीमतों से कई गुना अधिक भी होते देखे गये हैं।

ऐसा ही एक मामला संज्ञान में आया है यूपी के कानपुर से, जहाँ कानपुर के सरसौल में एक ऑटो चालक ने 22 हज़ार रुपये का चालान कटने की के ही कारण आआत्महत्या कर ली है। चालान से आत्महत्या करने की बात को लेकर मृतक ऑटो चालक की पत्नी ने ख़ुलासा करते हुए बताया है कि “जुलाई माह में ऑटो का चालान कटा और अब सितम्बर माह में भी उनके पति के ऑटो का चालान कटने से उसके पति मानसिक रूप से परेशान रहने लगे थे।” (Kanpur Auto Driver Suicide)

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार मृतक की पत्नी का कहना है कि “कमाई कम और ढाई माह के भीतर दो बार भारी भरकम चालान कटने की वजह से उसके पति डिप्रेशन में चले गये थे, जिसके चलते उनके पति ने आत्महत्या कर ली।” मृतक की पत्नी का कहना है कि “जुलाई से सितम्बर तक मात्र ढाई महीनों के दौरान ऑटो का 22 हज़ार 500 रुपये का चालान कट गया था। इसी कारण उसका पति मानसिक तनाव में था। (Kanpur Auto Driver Suicide)

मीडिया में आ रही ख़बरों के अनुसार आत्महत्या करने वाला युवक सुनील गुप्ता कानपुर के नर्वल क़स्बे का रहने वाला था, और उसने अपने परिवार का पेट पालने के लिये कुछ ही महीनों पहले एक सेकेंड हैंड ऑटो ख़रीदा था। उसके परिवार में पत्नी संगीता और एक 4 वर्षीय बेटी है। लेकिन कमाई कम और चालान हैसियत से कहीं ज़्यादा भारी भरकम राशि का कटने से वह सुनील गुप्ता बहुत परेशान चल रहा था। (Kanpur Auto Driver Suicide)

हालाँकि परिजनों का कहना है कि सुनील जैसे-कैसे कुछ पैसा जोड़कर चालान को ख़त्म करने के प्रयास में लगा था, लेकिन अचानक इसी बीच उसने आत्महत्या करना चुन लिया। परिजनों का कहना है कि हाल ही में इससे पहले सुनील ने बरामदे में चादर के फंदे से लटककर जान देने का प्रयास किया था, लेकिन उस समय एक पड़ोसी ने देख लिया था तो वह बच गया था। लेकिन इस बार उसने देर रात जब पत्नी और बच्ची सो रही थी तब आत्महत्या कर ही ली। (Kanpur Auto Driver Suicide)

इस संबंध में मीडिया रिपोर्ट्स में कानपुर के एसपी तेज़ स्वरूप सिंह के हवाले से बताया गया कि “(मृतक के) परिजनों का दावा है, कि सुनील ने चालान कटने के कारण ही आत्महत्या की है, लेकिन अभी इसकी जाँच की जा रही है, जाँच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि आत्महत्या करने की वास्तविक वजह क्या रही। (Kanpur Auto Driver Suicide)
यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों की किताबों से ‘उत्कल बंग’ शब्द ग़ायब, विपक्ष ने बीजेपी पर लगाया ‘राष्ट्रगान’ में फेंरबदल करने का आरोपRashtragan Error in UP School Books

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]