Karnatak Hindi News: अब कर्नाटक में टीपू सुल्तान के ज़माने में बनी मस्जिद को टारगेट पर लेटे हुए बताया हनुमान मन्दिर

Karnatak Hindi News: अब कर्नाटक में टीपू सुल्तान के ज़माने में बनी मस्जिद को टारगेट पर लेटे हुए बताया हनुमान मन्दिर

श्रीरंगपट्टनम:
Karnatak Hindi News- बाबरी मस्जिद,काशी, मथुरा और ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बाद अब हिन्दुत्वादी लोगों की नज़र कर्नाटक के श्रीरंगपट्टनम स्थित जामा मस्जिद पर है। यहाँ टीपू सुल्तान के ज़माने में बनी मस्जिद पर दावा किया जाने लगा कि यहाँ इस मस्जिद की जगह पर पहले एक हनुमान मन्दिर हुआ करता था। जिसे तोड़कर इस मस्जिद का निर्माण किया गया था।

आपको बता दें कि कर्नाटक के बेंगलुरु से लगभग 120 किलोमीटर दूर श्रीरंगपट्टन में एक जामा मस्जिद स्थित है। कहा जाता है कि इस जामा मस्जिद को टीपू सुल्तान ने बनवाया था। लेकिन अब कुछ हिन्दुत्वादी संगठनों द्वारा दावा किया जाने लगा कि यहाँ कभी हनुमान मन्दिर हुआ करता था जिसे तोड़कर टीपू सुल्तान ने यहाँ मस्जिद का निर्माण करवा दिया था। (Karnatak Hindi News)

Karnatak Hindi Newsअब यहाँ नरेन्द्र मोदी विचार मंच से जुड़े लोगों ने श्रीरंगपट्टनम की इस जामा मस्जिद में पूजा करने की माँग उठा दी है। नरेन्द्र मोदी विचार मंच के कर्नाटक राज्य के सचिव सी.टी मन्जुनाथ का कहना है कि “टीपू सुल्तान के जो दस्तावेज़ी साक्ष्य हैं उन साक्ष्यों यह बात सच साबित होती हैं कि यहाँ पहले एक हनुमान मन्दिर हुआ करता था, जिसे तोड़कर यह मस्जिद बनवायी गयी। हिंदुत्ववादी संगठन का दावा तो यह भी है कि इस मस्जिद की दीवारों पर हिन्दू शिलालेख मिले हैं जो कि मन्दिर होने की इस थ्योरी को बल देते हैं।” (Karnatak Hindi News)

वहीं हिन्दुत्वादी संगठनों के इस दावे के बाद जामा मस्जिद की ओर से मस्जिद की सुरक्षा बढ़ाने की माँग की गई है। हालाँकि इस संबंध में अभी तक कर्नाटक सरकार या किसी अन्य बड़े संगठन की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। (Karnatak Hindi News)

व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

यह भी पढ़ें- ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में हिन्दू पक्ष का दावा, कुएं में मिला शिवलिंग जबकि मुस्लिम पक्ष ने नकारा, ज़िलाधिकारी ने कहा…

Gyanvapi Mosque Survey: ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में हिन्दू पक्ष का दावा, कुएं में मिला शिवलिंग जबकि मुस्लिम पक्ष ने नकारा, ज़िलाधिकारी ने कहा…

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]