Karnataka Essay Controversy: कर्नाटक में हिन्दुत्ववादियों ने हेड मास्टर की स्कूली बच्चों के सामने ही की पिटाई, मास्टर जी ने छात्रों को दिया था पैग़म्बर पर निबन्ध लिखने का काम

Karnataka Essay Controversy: कर्नाटक में हिन्दुत्ववादियों ने हेड मास्टर की स्कूली बच्चों के सामने ही की पिटाई, मास्टर जी ने छात्रों को दिया था पैग़म्बर पर निबन्ध लिखने का काम

कर्नाटक: Karnataka Essay Controversy-
हिन्दुत्व की नई प्रयोगशाला बने कर्नाटक राज्य के गडग ज़िले में हिन्दुत्ववादी लोगों ने एक स्कूल के हेड मास्टर की स्कूली बच्चों के सामने ही सिर्फ़ इसलिये ख़ूब पिटाई की, कि हेड मास्टर साहब ने एक स्कूल स्तरीय निबन्ध प्रतियोगिता करते हुए छात्रों को पैग़म्बर साहब पर निबन्ध लिखने को दे दिया था।

लेकिन किसी दक्षिणपंथी विचारधारा के एक छात्र ने जब इस बात की शिकायत अपने पिता से की तो छात्र का पिता हिन्दुत्ववादी संगठन श्री राम सेना के लोगों साथ स्कूल पहुँचे और हेड मास्टर साहब की पूरे स्कूल के बच्चों के सामने ख़ूब पिटाई की। मास्टर साहब की पिटाई करने वाले हिन्दुत्ववादी लोगों का आरोप है कि ये बच्चों के धर्मांतरण करने का तरीक़ा है। (Karnataka Essay Controversy)

जबकि वस्तुस्थिति यह है कि स्कूली शिक्षा में धार्मिक और आध्यात्मिक शिक्षा का उद्देश्य छात्रों के सामाजिक ज्ञान में वृद्धि करना होता है, न कि धर्मांतरण को प्रोत्साहित करना। लेकिन आज के बदलते भारत में विद्यालयों को भी धर्म के नाम पर उन्माद फ़ैलाने वाले लोग टारगेट करने लगे हैं। जो कि भारत की शैक्षिक और सामाजिक एकता को खण्डित करने का एक प्रयास है।

वहीं इस मामले की जाँच के संबंध में समाचार एजेंसी ANI ने क्षेत्र के खण्ड शिक्षा अधिकारी के हवाले बताया कि “खण्ड शिक्षा अधिकारी को स्कूल हेड मास्टर व छात्रों की शिकायत की प्रति और जानकारी मिलने पर अपने स्तर जाँच करने के बाद इसे राज्य शिक्षा विभाग के उप-निदेशक को भेजा जायेगा।

आपको बता दें कि इसी कर्नाटक राज्य में ही कुछ महीनों पूर्व स्कूलों और कॉलेजों में हिजाब को लेकर एक ऐसा बवंडर खड़ा किया था, कि मामला सुप्रीम तक जा पहुँचा था। वहीं इसी कर्नाटक राज्य में हिन्दुत्ववादियों द्वारा देश में पहली बार मुस्लिमों के विरुद्ध आर्थिक बहिष्कार किये जाने का बड़ा अभियान चलाया गया था। (Karnataka Essay Controversy)
यह भी पढ़ें- यूपी सरकार अब मदरसों में बढ़ाने जा रही है पढ़ाई का एक और अतिरिक्त घण्टा, अब 6 घण्टों तक की होगी मदरसा टीचरों की ड्यूटीUP Madarsas Teaching Period

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]