Khagaria Female Sterilization Matter: अजब-ग़ज़ब: यहाँ तो बिना बेहोश किये ही डॉक्टरों ने महिलाओं की कर दी नसबन्दी, चींखती तड़पती रही महिलायें

Khagaria Female Sterilization Matter: अजब-ग़ज़ब: यहाँ तो बिना बेहोश किये ही डॉक्टरों ने महिलाओं की कर दी नसबन्दी, चींखती तड़पती रही महिलायें

 

बिहार: Khagaria Female Sterilization Matter- भारत के लोग कितने बड़े प्रयोगवादी होते हैं इसकी एक मिसाल देखने को मिली बिहार में, यहाँ बिहार के खगड़िया जनपद के अलौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कुछ महिलाएं नसबंदी कराने पहुँची तो चिकित्सकों ने महिलाओं को बिना बेहोशी का इंजेक्शन लगाये ही महिलाओं के होशोहवास में ऑपरेशन कर दिये। इस दौरान महिलाएं चींखती और तड़पती रही।Khagaria Female Sterilization Matter

मीडिया रिपोर्ट्स में पीड़ित महिलाओं के हवाले से बताया जा रहा है कि ऑपरेशन के समय वे असहनीय दर्द से कराहती रही लेकिन चिकित्सकों ने बिना बड़ी बेदर्दी के साथ महिलाओं को बेहोश किये बग़ैर ही ऑपरेशन कर दिये। इस दौरान जब एक महिला ने चिकित्सक से पूछा कि बिना सूई दिये ही ऑपरेशन क्यूँ कर रहे हैं? तो डॉक्टर ने कहा कि ऑपरेशन के बाद सूई दी जायेगी। (Khagaria Female Sterilization Matter)

महिलाओं का कहना है कि जब बिना बेहोशी के ऑपरेशन के दौरान वे ज़ोर-ज़ोर से दर्द से चिल्लाने लगी तो उनके पैर और हाथ पकड़कर चींखते हुए तड़पते हुए ऑपरेशन कर दिये गये। बताया जा रहा है कि यह यह नसबंदी कैम्प का आयोजन एक निजी एजेंसी ने ज़िला स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर किया था। (Khagaria Female Sterilization Matter)

बहरहाल कारण कुछ भी हो लेकिन इस मामले ने बिहार की स्वास्थ्य सेवाओं की लापरवाही की एक बड़ी पोल खोलकर रख दी है। बता दें कि बिहार सरकार नसबन्दी अभियान के अन्तर्गत आंकड़ा बढ़ाने के लिये एक NGO को एक महिला की नसबन्दी ऑपरेशन के लिये 2,170 रुपये देती है। (Khagaria Female Sterilization Matter)
यह भी पढ़ें- राजधानी एक्सप्रेस में चढ़ने का प्रयास कर रहे फ़ौजी को टीटीई ने दिया धक्का फ़ौजी के दोनों पैर कटे, अफ़सोस ऐसी जनता के लिये सरहदों पर अपनी जान देते हैं फ़ौजी?Bareilly-Soldier's leg amputated

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]