KYC के नाम पर सैकड़ों लोगों से ठगी करने वाला गैंग गिरफ़्तार, कैश निकालने के लिए हवाई जहाज़ से करते थे सफ़र-KYC thug gang arrested

KYC के नाम पर सैकड़ों लोगों से ठगी करने वाला गैंग गिरफ़्तार, कैश निकालने के लिए हवाई जहाज़ से करते थे सफ़र-KYC thug gang arrested

नई दिल्ली: 
दिल्ली की साइबर सेल पुलिस ने देशभर में सैंकड़ों लोगों को KYC कराने के नाम पर ठगने वाले एक शातिर गैंग का ख़ुलासा किया है। इस मामले में दिल्ली साइबर सेल पुलिस ने 2 सगे भाइयों सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।आरोपियों की पहचान जयपुर के मुकेश कुमार सिंह, झारखण्ड निवासी दुलार कुमार, मुकेश कुमार सिंह के भाई पिंटू व इनके साथी छेतलाल बनाम ‘गोडसे’ के रूप में हुई है।

मामले की जाँच के दौरान दिल्ली पुलिस को पता चला कि पकड़े गए यें आरोपी राजस्थान की एक पॉश सोसायटी में बैठकर KYC कराने के नाम पर लोगों से ठगी करने काम करते थे। और ठगी से प्राप्त रक़म को हवाई जहाज से यात्रा करते हुए पश्चिम बंगाल या झारखण्ड पहुँचकर निकाल लिया करते थे। दिल्ली पुलिस ने इन आरोपियों को बैंक खाते से 1 लाख रुपये, 7 मोबाइल फ़ोन्स, 3 चेकबुक, 11 डेबिट कार्ड व ठगी की रक़म से ख़रीदी हुई एक हुंडई की वरना कार बरामद की है। अभी पुलिस आरोपियों को रिमाण्ड पर लेकर और पूछताछ कर रही है। (KYC thug gang arrested)

इस संबंध में दिल्ली के नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के DCP सागर सिंह कलसी ने बताया कि “विगत दिनों उनकी साइबर सेल टीम को गृह मंत्रालय के साइबर क्राइम पोर्टल माध्यम से ठगी की एक शिकायत मिली थी, जिसमें शिकायतकर्ता ने बताया था कि वह एक नामी दवा कम्पनी में MR की नौकरी करता है। उसने अपनी माता के कैंसर के इलाज हेतु कुछ पैसे अपने व पत्नी के खाते में रखे हुए थे लेकिन किसी ने KYC कराने के नाम पर उस से ठगी कर ली है।”

पीड़ित ने बताया था कि उसके मोबाइल पर एक नामी वॉलेट से मैसेज आया था कि KYC करा ले। इस के लिए एक लिंक भी शेयर किया गया था। पीड़ित ने जैसे ही लिंक पर क्लिक करके अपने कार्ड की जानकारी उस पर शेयर की तो उसके बैंक खाते से रुपये ट्रांसफर होने लगे। आरोपी द्वारा पीड़ित से कहा गया कि आप निश्चिन्त रहे आपकी रक़म जल्द ही वापस आ जाएगी। फिर इस तरह ही आरोपी ने पीड़ित की पत्नी के मोबाइल से भी तभी रक़म ट्रांसफर कर ली। इस प्रकार ठगों ने पीड़ित और उसकी बीवी के खातों से कुल 10 लाख रुपये की रक़म ट्रांसफर कर ली। (KYC thug gang arrested)

13 जनवरी को पीड़ित की इस शिकायत के बाद नॉर्थ दिल्ली के साइबर थाने में केस दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी थी। इस मामले की छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि पीड़ित को कॉल राजस्थान के जयपुर से की गई थी जबकि उस से ठगी गई रक़म को झारखण्ड, प. बंगाल व महाराष्ट्र से निकाला गया है। इसी को ध्यान में रखते हुए फ़ौरन एक टीम को जयपुर तथा दूसरी टीम को झारखण्ड भेज दिया गया। पुलिस ने सर्विलांस के आधार पर दो आरोपियों पिंटू तथा मुकेश को जयपुर से अरेस्ट कर लिया। इन दोनों आरोपियों से पूछताछ में चला कि 2 आरोपी कैश निकालने के लिए हवाई जहाज से झारखण्ड गए हुए हैं। झारखण्ड पहुँची हुई दूसरी टीम ने पिंटू के भाई दुलार और उसके छेतलाल को झारखण्ड से गिरफ्तार कर दिल्ली ले आयी। (KYC thug gang arrested)

ऐसे देते थे यें ठगी की वारदात को अंजाम-
पुलिस द्वारा गहनता से पूछताछ में इन आरोपियों ने बताया कि यें लोग झारखण्ड, ओडिशा व प. बंगाल सहित दूसरे प्रदेशों के Pre-Activeted मोबाइल सिमकार्ड ख़रीद लेते थे। और इन्ही फ़ोन नंबरों से पीड़ितों के मोबाइल नंबर्स पर नामी कंपनी के वॉलेट के नाम से मैसेज कर KYC कराने हेतु कहा जाता था। इन के भेजे लिंक पर जानकारी शेयर करने के तुरन्त बाद पीड़ित लोगों के पास एक ऐसे फ़ोन नम्बर से कॉल की जाती थी जो Trucaller पर नामी वॉलेट कम्पनी का ही दिखता था। आरोपियों विश्वास के साथ झाँसे में आकर अपने मोबाइल फ़ोन की स्क्रीन इनके साथ शेयर कर लेते थे। इसके बाद आरोपी पीड़ितों के खातों में से रक़म ट्रांसफर कर लेते थे।
यह भी पढ़ें- महिला ने ‘सोशल डेटिंग ऐप’ पर व्यक्ति से दोस्ती कर बनाया बंधक, फिरौती में वसूले 6 लाख रुपयेWoman robbed a man by befriending him on a dating app

Report-Farhad Pundir(Farmat)
Report-Farhad Pundir(Farmat)

 

 

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]