Maharashtra Politics: महाराष्ट्र के औरंगाबाद और उस्मानाबाद इन 2 शहरों के नाम बदलने पर फ़िलहाल लगी रोक

Maharashtra Politics: महाराष्ट्र के औरंगाबाद और उस्मानाबाद इन 2 शहरों के नाम बदलने पर फ़िलहाल लगी रोक

मुम्बई: Maharashtra Politics
महाराष्ट्र के औरंगाबाद और उस्मानाबाद इन दो शहरों के नाम बदलने के महाराष्ट्र की पिछली उद्धव ठाकरे सरकार के निर्णय पर फ़िलहाल एकनाथ शिंदे-देवेन्द्र फडणवीस सरकार ने रोक लगा दी है। इसका श्रेय खुद लेने के लिये अब एकनाथ शिंदे और फडणवीस सरकार नये सिरे से इस प्रस्ताव को कैबिनेट के सामने रखेगी।

ऐसा इसलिये हो रहा है कि जिस समय तत्कालीन उद्धव ठाकरे की सरकार ने यह निर्णय लिया था, उस से पहले ही महाराष्ट्र के राज्यपाल उद्धव सरकार को बहुमत साबित करने के लिये अधिपत्र लिख चुके थे। इसीलिये इस निर्णय पर यें सवाल उठ रहे थे। मुख्यमंत्री की कुर्सी पर संकट के बादलों के बीच महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने जाते जाते यह औरंगाबाद और उस्मानाबाद शहरों के नाम बदलने का बड़ा निर्णय लिया था। (Maharashtra Politics)

विदित हो कि उद्धव सरकार ने औरंगाबाद शहर का नाम संभाजीनगर और उस्मानाबाद शहर का नाम धाराशिव रखने की स्वीकृति दी थी। वहीं नवी मुम्बई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का भी नाम बदलकर स्वर्गीय डी.बी पाटिल अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा करने की स्वीकृति दी गई थी। हालांकि इनमें से औरंगाबाद का नाम बदलने माँग पहले ही से चली आ रही है। (Maharashtra Politics)

Maharashtra Politics

वहीं इस से पहले NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा था कि “इन स्थानों का नाम बदलना NVA के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का पार्ट नहीं था।” उन्होंने कहा कि “ये मुझे निर्णय लेने के बाद पता चला, यह निर्णय बिना किसी पूर्व परामर्श के तहत लिया गया था।” शरद पवार ने कहा कि “वैसे तो इस प्रस्ताव पर कैबिनेट की बैठक के दौरान हमारे लोगों द्वारा राय ली गई थी, लेकिन यह निर्णय तत्कालीन सीएम उद्धव ठाकरे का था।” (Maharashtra Politics)

उधर औरंगाबाद के सांसद व AIMIM के नेता इम्तियाज़ जलील ने बीते दिनों कहा कि “NCP (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) के प्रमुख शरद पवार का यह दावा कि वह औरंगाबाद शहर का नाम ‘संभाजीनगर’ रखने के क़दम से अनजान थे..यह एकदम हास्यास्पद बात है।” (Maharashtra Politics)
यह भी पढ़ें- अब भारत के इस राज्य के पास है अपना स्वयं का इंटरनेट, जानिये देश के इस ऐसे पहले राज्य के बारे में

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]