Mahoba Farmer Suicide: यूपी के महोबा में आवारा पशुओं द्वारा फ़सल बर्बाद होने से आहत किसान ने की आत्महत्या, किसान हुए परेशान, खेतों में तारबाड़ करने पर भी सरकार ने लगाई पाबन्दी

Mahoba Farmer Suicide: यूपी के महोबा में आवारा पशुओं द्वारा फ़सल बर्बाद होने से आहत किसान ने की आत्महत्या, किसान परेशान, खेतों में तारबाड़ करने पर भी सरकार ने लगाई पाबन्दी

 

महोबा: Mahoba Farmer Suicide- उत्तर प्रदेश के महोबा में आवारा पशुओं द्वारा फ़सल बर्बाद कर देने से आहत एक 47 वर्षीय किसान ने घर में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिससे किसान के घर मातम का माहौल है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौक़े पर पहुँची किसान के शव को फंदे से नीचे उतारकर पंचनामा की कार्यवाही कर शव का पोस्टमार्टम हेतु भिजवाया।Mahoba Farmer Suicide

जानकारी के मुताबिक़ यह घटना महोबा के कबरई थानाक्षेत्र के गाँव गहरा की है। यहाँ छुट्टे फिरते आवारा पशुओं ने किसान की मूँगफली की फ़सल को पूरी तरह से बर्बाद कर दिये जाने के बाद किसान ने दुःखी होकर आत्महत्या कर ली। (Mahoba Farmer Suicide)

मृतक किसान का भाई किशोरी लाल के कहना है कि “उसका भाई पप्पू अपनी चार बीघा भूमि में खेती करके अपने परिवार का पालन पोषण करता आ रहा था। इस बार उसके भाई पप्पू ने अपने खेत में मूँगफली की फ़सल बोई हुई थी, और फ़सल अच्छी होने की उम्मीद लगाये बैठा था। पप्पू दिन रात खेत मे मेहनत कर रहा था।” (Mahoba Farmer Suicide)

मृतक किसान के भाई का कहना है कि “उसके भाई की मेहनत पर उस पानी फ़िर गया जब उसकी सारी फ़सल अन्ना जानवर (आवारा छुट्टे पशुओं) ने तहस नहस कर दी। जब उसके भाई ने अपनी फ़सल उजड़ी देखी तो, उसे इतना सदमा लगा कि उसने आज सुबह अपनी पत्नी व बच्चों को तो मूँगफली की फ़सल उखाड़ने के बहाने खेत मे भेज दिया और स्वयं सदमे में आकर घर में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली लगा ली।”

इस बात का पता तब चला जब पड़ोसियों ने किसान को फाँसी के फंदे पर लटका देखा। पड़ोसियों ने तुरन्त इसकी सूचना मृतक किसान के परिवार को दी तो, खेत से उसकी पत्नी व बच्चे घर पहुँचे। जिसके बाद किसान के घर में मातम छा गया। सूचना पाकर मौक़े पर पहुँची पुलिस ने किसान के शव को नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। (Mahoba Farmer Suicide)

इस संबंध में पुलिस द्वारा परिवार से आत्महत्या के कारणों की पूछताछ कर अग्रिम कार्यवाही करनी शुरु कर दी। मीडिया रिपोर्ट्स आ अनुसार मृतक किसान की 2 पुत्रियां और 3 पुत्र हैं। इस हादसे से मृतक किसान का पूरा परिवार भी सदमें में हैं। (Mahoba Farmer Suicide)Mahoba Farmer Suicide

बता दें कि पिछले कुछ वर्षों से प्रदेश में आवारा पशुओं की संख्या इतनी बढ़ चुकी है कि किसानों को अपनी फ़सलों को बचाने के लिये काफ़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। किसान आख़िर अपनी फसलों को इन आवारा छुट्टे पशुओं से बचाये तो बचाये कैसे? (Mahoba Farmer Suicide)

अगर किसान आवारा पशुओं से फसलों को बचाने के लिये खेतों में तारबाड़ कर देते थे तो अब सरकार ने भी खेतों में तारबाड़ करना अपराध घोषित कर दिया है। इसी के चलते एक परेशान किसान ने आख़िर अपनी जान ही दी है।
यह भी पढ़ें- इसरो ने पेश की नई मिसाल, 36 उपग्रहों के साथ ब्रिटिश स्टार्टअप ने उड़ान भरीHistoric Achievement of ISRO

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]