मालेगाँव बम ब्लास्ट केस में अब 17 वां गवाह भी अदालत में मुकरा, ATS पर ही लगाये गम्भीर आरोप- Malegaon Blast Case

मालेगाँव बम ब्लास्ट केस में अब 17 वां गवाह भी अदालत में मुकरा, ATS पर ही लगाये गम्भीर आरोप– Malegaon Blast Case

मुम्बई: 
वर्ष 2008 में हुए मालेगाँव ब्लास्ट मामले में अब एक और गवाह अदालत में मुकर गया है। कुल मिलाकर यह इस केस का 17-वां गवाह है जिसने मालेगाँव बम ब्लास्ट केस में गवाही देने से इनकार किया है। साथ ही जहाँ यह 17 वाँ गवाह अदालत में गवाही देने से मुकर गया है वहीं इसने महाराष्ट्र ATS पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि “ATS ने उसे तीन-चार दिनों तक ज़बरदस्ती बन्धक बनाकर रखा और ख़ूब प्रताड़ित करके उस पर इस मामले में RSS नेताओं का नाम लेने का दबाव बनाया था।Malegaon Blast Case (Malegaon Blast Case)

वहीं इस से पूर्व एक और ऐसे ही गवाह ने अदालत में मुकरते हुए कहा था कि “ATS ने उसे यूपी के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ व RSS के 4 नेताओं के नाम लेने के लिए विवश किया गया था। बता दें कि जब वर्ष 2008 में मालेगाँव में बम ब्लास्ट हुआ था उस समय मुम्बई के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ATS के अतिरिक्त आयुक्त थे।Malegaon Blast Case

उस समय परमवीर सिंह ने ही 2008 के मालेगाँव ब्लास्ट मामले की जाँच की थी। मुम्बई से लगभग 200 किलोमीटर दूर मालेगाँव क़स्बे में 29 सितम्बर 2008 को एक ब्लास्ट हुआ था जिसमें 6 लोगों की मृत्यु हो गई थी और 100 से ज़्यादा लोग घायल हो गये थे। (Malegaon Blast Case)
मालेगाँव ब्लास्ट के इस केस में अब तक कुल 17 गवाह मुकर चुके हैं। ATS ने इस मामले में लगभग 20 गवाहों के नाम अदालत में गवाही के लिए दिये हैं जिनमें से 17 गवाह मुकर गए हैं।

यह भी पढ़ें- AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की कार पर फ़ायरिंग मामले में 1 गिरफ़्तारFiring on Owaisi's car

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]