Mukhtar Abbas Naqvi: मुख़्तार अब्बास नक़वी ने मुसलमानों को किया आगाह, कहा भारत में कुछ लोगों को है इस्लामोफ़ोबिया,आप लोग साजिशी सिंडीकेट से होशियार रहें

Mukhtar Abbas Naqvi: मुख़्तार अब्बास नक़वी ने मुसलमानों को किया आगाह, कहा भारत में कुछ लोगों को है इस्लामोफ़ोबिया,आप लोग साजिशी सिंडीकेट से होशियार रहें

लखनऊ: Mukhtar Abbas Naqvi-
बीजेपी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केन्द्रीय मन्त्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने भारतीय मुसलमानों की मौजूदा स्थित पर दो टूक कहा कि “विदेशी आक्रमणकारियों के क्रिमिनल कम्युनल क्रूर क्राइम के गुनाहों की गठरी को भारतीय मुसलमानों के सिर का बोझ नहीं बनाना चाहिये।” वहीं उन्होंने पार्टी की प्रशंसा करते हुए कहा कि “बीजेपी ने तुष्टीकरण के सियासी छल को समावेशी सशक्तिकरण के बल से ध्वस्त किया है।”

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने लखनऊ के विश्वेश्वरैया सभागार में आयोजित बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ताओं को पार्टी की नीति और सिद्धांत समझाते हुए यह बात कही। इस दौरान नक़वी भारतीय मुस्लिम समुदाय और राजनीति के बीच बेहतर सन्तुलन बनाने का प्रयास करते नज़र आये। (Mukhtar Abbas Naqvi)

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने भारतीय मुसलमानों के प्रति नकारात्मक पूर्वाग्रह की धारणा रखने वालों को बिल्कुल स्पष्ट संदेश दिया कि “विदेशी आक्रमणकारियों क्रूरतम गुनाहों की गठरी के बोझ को भारतीय मुसलमानों के सिर पर न रखा जाये।” मुख़्तार अब्बास नक़वी ने मुस्लिम समाज के लोगों को आगाह करते हुए कहा कि “भारत में कुछ लोगों को ‘इस्लामोफ़ोबिया’ हो गया है, इसलिये आप लोग साजिशी सिंडीकेट से होशियार रहें।” (Mukhtar Abbas Naqvi)

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने कहा कि “इंसानियत व ईमान को शर्मसार करने वाले इतिहास के गढ़े मुर्दे उखाड़ने से हिन्दुस्तान के किसी भी समाज और सम्प्रदाय का भला नहीं हो सकता। लेकिन कुछ लोग हैं जो अपने राजनीतिक स्वार्थ और सनक में विदेशी हमलावरों के ज़ुल्म के जागीरदार बन जाते हैं। इससे तो समाज के सद्भाव को नुकसान पहुँचाने वालों के मंसूबों को ताक़त मिलती है।”

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने यूपी में हो रहे मदरसों के सर्वे के मुद्दे पर कहा कि “इस पर साम्प्रदायिक सियासत हो रही है, हमें सभी मदरसों पर शक नहीं करना चाहिये..लेकिन सर्वे पर बवाल स्वयं सवाल बन जाता है, जब (मदरसों में) कुछ छुपाने को है ही नहीं तो इसमें चिल्लाने की कोई बात ही नहीं है?” (Mukhtar Abbas Naqvi)

उन्होंने कहा कि “सेकुलरिज्म कुछ लोगों के लिये राजनीतिक वोटों का सौदा है। जबकि हमारे लिये (बीजेपी) समावेशी विकास का मसौदा है। केन्द्र की मोदी सरकार में इसी सकारात्मक बदलाव से बेचैन लोग देश की एकता, अखण्डता और साम्प्रदायिक सौहार्द के ताने बाने को तोड़ने की साजिश में जुटे हुए हैं, जिनको हम सब को मिलकर परास्त करना है।
समाचार स्रोत- जागरण
Edited By- फ़रहाद पुण्डीर
यह भी पढ़ें- यूपी के गोंडा ज़िले में सड़क किनारे पड़े बिजली के तार की चपेट में आने से 2 सगे भाइयों सहित 3 की मौत3 died In Gonda Accident

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]