Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter: पाकिस्तान के मुल्तान शहर के निश्तार हॉस्पिटल की छत से बड़ी संख्या में शव मिले हैं, सभी के बॉडी पार्ट्स ग़ायब मिले

Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter: पाकिस्तान के मुल्तान शहर के निश्तार हॉस्पिटल की छत से बड़ी संख्या में शव मिले हैं, सभी के बॉडी पार्ट्स ग़ायब मिले

 

विदेश समाचार,मुल्तान: Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter- पाकिस्तान के मुल्तान की अस्पताल की छत पर मिले शव की तस्वीरें बेहद विचलित कर देने वाली हैं। कई शव बेहद ही बुरी स्थिति में बताये जा रहे हैं। शव मिलने के बाद से ही प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। मामले की जाँच की जा रही है। कई शवों के सीने खुले हैं, उनके हार्ट निकाले जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है।Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter

निश्तार मेडिकल यूनिवर्सिटी और अस्पताल के इस मन को विचलित करने वाली तस्वीरों में दिख रहा है कि कैसे सभी शवों को खुले में सड़ते हुए छोड़ दिया गया है। हालाँकि वहीं कई मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शवों की संख्या 500 से अधिक भी बतायी जा रही है, लेकिन एनाटॉमी विभाग (Anatomy dept head) के प्रमुख ने 500 शव बरामद होने की खबरों का खण्डन करते हुए दावा किया कि “यें सभी शवों का चिकित्सीय शैक्षिक उद्देश्यों के लिये इस्तेमाल किया गया है। (Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter)

इस संबंध में एक अनुभाग अधिकारी ने निश्तार अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक को पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि “मुल्तान के नश्तर अस्पताल की छत पर शवों के सड़ने की एक भयावह घटना सामने आई है, जिससे लोगों में आक्रोश है।” (Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter)Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter

इस मामले में सबसे ज़्यादा विचलित करने वाली बात यह है कि बरामद हुए सभी शवों के साथ चीरफाड़ की हुई है। जिसके चलते आशंका व्यक्त की जा रही है कि इन सभी शवों के बॉडी पार्ट्स को निकालकर इस तरह से फेंक दिया गया हो। अब इस मामले के तूल पकड़ने के बाद दक्षिण पंजाब के हेल्थ डिपार्टमेंट ने इस मामले की जाँच के लिये एक 6 सदस्यों की टीम का गठन किया है। इसे 3 दिनों में जाँच रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है। (Multan Nishtar Hospital Dead Bodies Matter)
यह भी पढ़ें- ज्ञानवापी केस में कथित शिवलिंग अथवा फ़व्वारा की कार्बन डेटिंग की जाँच की माँग वाली याचिका हुई ख़ारिज़Gyanvapi Case Carbon Dating

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]