News in Hindi-चक्रवाती तूफ़ान ‘आसनी’ में समुद्री लहरों में बहकर आया एक भव्य ‘गोल्डन रथ’ बना कौतूहल, लोगों ने रस्सों से खींचकर निकाला बाहर

News in Hindi-चक्रवाती तूफ़ान ‘आसनी’ में समुद्री लहरों में बहकर आया एक भव्य ‘गोल्डन रथ’ बना कौतूहल, लोगों ने रस्सों से खींचकर निकाला बाहर

आंध्रप्रदेश : News in Hindi
बंगाल की खाड़ी में बने आसनी चक्रवात के चलते समुद्र आजकल पूरे उफ़ान पर है। आंध्र प्रदेश में श्रीकाकुलम तट पर ऐसी ही उफ़नती समुद्री लहरों में एक ऐसी चीज़ बहकर आ गई, जिसे देखकर लोग हैरान हैं।

दरअसल यहाँ एक रथ जैसा दिखने वाला एक ढांचा बहकर आया जो सुनहरे रंग का है। इस पूरे रथ पर एक सुनहरे रंग की परत चढ़ी हुई है। अभी तक इस रथ के बारे कुछ पता नहीं चल पाया है कि रथ कहाँ से समुद्र की लहरों में बहकर आया है?

Taj Mahal controversy,News In Hindi

Times Of India की रिपोर्ट के अनुसार यह रथ मंगलवार को आंध्रप्रदेश कर श्रीकाकुलम जनपद के सुन्नापल्ली तट पर समुद्र में बहकर आया है। जब लोगों ने समंदर में बहते इस रथ को देखा, तो उसे रस्सियों के सहारे खींचकर किनारे पर ले आये और थोड़ी ही देर में देखते-देखते इसकी ख़बर आग की तरह फ़ैल गई और बड़ी संख्या में लोग इस कौतूहल को देखते उमड़ पड़े। (News in Hindi,The golden chariot came flowing in the sea)

ANI की ओर से जारी एक वीडियो में देखा जा रहा है, कि यह रथ दिखने में बहुत ही सुन्दर है, और उसके ऊपर किसी मॉनेस्ट्री जैसे आकार का ढांचा बना हुआ है। जिस पर सुनहरे रंग की परत चढ़ी है। इस रथ को इस प्रकार बनाया गया है कि ताकि पानी में आसानी तैर सके।

Times Of India की ही रिपोर्ट के अनुसार यह यह अनुमान लगाया जा रहा है कि, यह रथ थाईलैंड, म्यांमार, इंडोनेशिया या मलेशिया जैसे किसी दक्षिणी पूर्वी एशियाई देश से संबंधित हो सकता है। क्योंकि आसनी चक्रवात के कारण पहले दक्षिणी अंडमान सागर में ही कम दबाव का क्षेत्र बना था। (News in Hindi,The golden chariot came flowing in the sea)

ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा हैं कि यह रथ थाईलैंड, म्यांमार, मलेशिया या इंडोनेशिया जैसे किसी अंडमान सागर के नज़दीकी देश का हो सकता है जो कि आसनी चक्रवात के प्रभाव से समुद्र की उफ़नती लहरों में बहकर आ गया है। (News in Hindi,The golden chariot came flowing in the sea)

Taj Mahal controversy,News In Hindi

हालांकि मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि संताबोम्मली के तहसीलदार जे.चलमैय्या TOI (टाइम्स ऑफ इंडिया) के इस अनुमान से सहमत नहीं हैं। उनका अनुमान है कि “यह रथ किसी दूसरे देश से नहीं आया होगा। संभवतः इस रथ का प्रयोग किसी भारतीय तट पर किसी फ़िल्म की शूटिंग के लिये किया गया ह

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]