सावधान: Online Scams का बढ़ता ग्राफ़,जानिये क्या क्या हथकंडे अपना रहे हैं यें जालसाज ठग, सीनियर सिटीज़न्स को कर रहे हैं टारगेट

Online Scams का बढ़ता ग्राफ़,जानिये क्या क्या हथकंडे अपना रहे हैं यें जालसाज ठग, सीनियर सिटीज़न्स को कर रहे हैं टारगेट

न्यूज़ डेस्क (देश दुनिया टुडे)
कोरोना महामारी को लेकर जहाँ लोगों में दहशत और डर का माहौल बना हुआ है वहीं इस डर का फ़ायदा उठाने के लिए साइबर अपराधी भी सक्रिय हो गए हैं। देश मे कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते प्रभाव के मद्देनज़र भारत में सरकार द्वारा 60 वर्ष से ज़्यादा आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए बूस्टर डोज़ देना कर दिया है। इसी बीच ठग जालसाज लोग बूस्टर डोज़ के बहाने वरिष्ठ नागरिकों को अपने जाल में फँसाकर स्कैम करने का एक आइडिया लेकर आये हैं। (Online Scams)Online Scams

यें जालसाज़ लोग फर्ज़ी हेल्थ ऑफिसर्स बनकर विशेषकर वरिष्ठ नागरिकों को बरग़लाकर उनके बैंक अकाउंट की सीक्रेट डिटेल लेने की कोशिश कर ठगने का प्रयास कर रहे हैं। यें ऑनलाइन ठग हेल्थ ऑफिसर्स के रूप में लोगों को फोन कॉल कर बूस्टर डोज़ अलॉट करने का झाँसा देकर लोगों से फ़ोन नम्बर, एड्रेस आदि सीक्रेट जानकारी लेकर OTP साझा करवाकर उनके बैंक एकाउंट्स को ख़ाली कर देते हैं। जबकि कुछ मामलों में कॉल करने वाले जालसाजों के पास लोगों की वैक्सीनेशन की तारीख़ सहित आवश्यक जानकारी पहले से ही पता होती है, इसलिए लोग जालसाजों पर विश्वास कर अपनी सभी सीक्रेट जानकारी साझा कर देते हैं।

कुछ मामलों में देखने सामने आया है कि यें जालसाज लोगों की सारी सीक्रेट जानकारी लेने के बाद दूसरे फ़ोन नम्बरों से कॉल कर लोगों से स्वास्थ्य अधिकारियों की तरह बात करते हुए यह पूछते हैं कि क्या आप बूस्टर डोज़ लेना चाहते हैं? और क्या वे इसके लिए अपना स्लॉट बुक कराना चाहते हैं? लोगों की हाँ के बाद इन जालसाजों ने व्यक्तियों के मोबाइल नम्बर पर एक OTP भेजा और OTP साझा होते ही लोग स्कैम का शिकार हो गये। (Online Scams)Online Scams

पिछले कई वर्षों में देखने में आया कि स्कैमर लोगों को ‘बड़ी लॉटरी लगने और ‘आपका मोबाइल नम्बर लकी ड्रा के लिए चुना गया है’ जैसे लुभावने मैसेज भेजकर ऑनलाइन फ़्रॉड करते आ ही रहे हैं। बहुत से लोग अनजाने में लोभवश ठगों के शिकार हुए हैं। लेकिन यें जालसाज समय के साथ-साथ फ्रॉड करने के अपने तरीक़े बदलते रहते हैं। बीते दिनों इन जालसाजों ने लोगों को बड़ी-बड़ी कंपनियों के महंगे मोबाईल फ़ोन को 50% छूट पर देने के लालच दिए और कुरियर से भेजने के नाम पर लोगों के एड्रेस, आधारकार्ड, मोबाईल नम्बर और मोबाइल नम्बर को वैरिफिकेशन करने के बहाने OTP भेजकर लोगों के बैंक खातों को ख़ाली कर देते थे। सकैमर ये फंडा अभी भी अपना रहे हैं। KYC के नाम पर सैकड़ों लोगों से ठगी करने वाला गैंग गिरफ़्तार, कैश निकालने के लिए हवाई जहाज़ से करते थे सफ़र

एक रिपोर्ट के अनुसार इन जालसाज कोविड स्कैम करने में अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों में सफ़ल हो जाते हैं जहाँ पर अधिकांश वरिष्ठ नागरिकों को इस बाद का अंदाज़ा नहीं होता कि वैक्सीन स्लॉट बुकिंग के नाम पर कोई स्कैमर उनके साथ इंटरनेट बैंकिंग,UPI या मोबाइल नम्बर पर OTP के माध्यम से उनके साथ आसानी से ऑनलाइन ठगी कर सकता है। ऐसे में यें जालसाज लोग लोगों को कभी कोविड वैक्सीनेशन के नाम पर तो कभी KYC कराने के नाम पर तो कभी ATM ब्लॉक हो जाने के नाम पर लोगों के साथ फ़्रॉड करने में कामियाब हो जाते हैं। (Online Scams)Online Scams

अगर कोई व्यक्ति आजकल हो रही ऑनलाइन ठगी से सतर्क रहता है तो इंटरनेट बैंकिंग धोखाधड़ी से बच सकता है। सबसे बड़ी बात तो यह समझने की है कि सरकार ने न तो फोन कॉल के माध्यम से वैक्सीन स्लॉट बुक करने का विकल्प दिया है और न ही कोई भी बैंक अपने खाताधारकों को सीक्रेट जानकारी हासिल करने के लिए फ़ोन कॉल या मैसेज करता है। सरकार ने वैक्सीन स्लॉट बुक करने का एकमात्र विकल्प Kowin पोर्टल या आरोग्य सेतु ऐप पर ही दिया है। और अब तो यदि आप ऑनलाइन बुकिंग नहीं भी कर पा रहे हैं तो भी आपको किसी भी वैक्सीन सेंटर पर जाकर वैक्‍सीन लगवाने की सुविधा भी सरकार ने दी हुई है। (Online Scams)

इसलिए लोगों को चाहिए कि जब भी कोई बिना आपके द्वारा भेजी रिक्वेस्ट का अनपेक्षित OTP आये तो उसे ध्यान से पढ़ें और अगर किसी संदिग्ध मैसेज में आपको कोई वेबलिंक दिया है तो उसे नज़रंदाज़ करें, बिल्कुल भी उस लिंक पर क्लिक मत करें। अन्यथा कई बार देखने में आया है कि फ़ोन में आये किसी भी लॉटरी या पुरस्कार जैसे लोभी मैसेज में दिए गए लिंक पर क्लिक करते ही लोग स्कैम का शिकार हो जाते हैं।
यह भी पढ़ें- बड़ी FD का झाँसा देकर जालसाज ने SBI मैनेजर से ही ठग लिए 19 लाख रुपयेScam caller cheated SBI manager of more than eighteen lakh rupees

Author: Desh Duniya Today