सरकारी स्कूलों का निजीकरण शुरु: शासकीय अध्यापक संगठन (M.P)- Privatization of government schools started in MP

सरकारी स्कूलों का निजीकरण शुरु: शासकीय अध्यापक संगठन (M.P)– Privatization of government schools started in MP

भोपाल:
“मध्य प्रदेश में सरकारी स्कूलों के निजीकरण की प्रक्रिया का आगाज़ हो चुका है लेकिन इसका तेज़ विरोध न हो इसके लिये इसे एक धीमी प्रक्रिया के तहत ‘PPP’ मोड में किया जा रहा है।’.. यह दावा है मध्य प्रदेश के शासकीय अध्यापक संगठन का जिस में कहा गया कि “जिस तरह राज्य परिवहन विभाग और M.P.E.B विभागों का निजीकरण कर दिया गया है अब उसी प्रकार शिक्षा विभाग के निजीकरण किए जाने की एक शुरुआत हो चुकी है।” Privatization of government schools started in MP

“वर्ष-2020 में आयी नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत शिक्षा को सरकारी हस्तक्षेप से मुक्त कर दिया गया है, जिसका सीधा सा मतलब है कि अब नये भारत में शिक्षा का भी बाज़ारीकरण होगा। फ़िलहाल मध्य प्रदेश सरकार ने 53 जनपदों में सरकारी स्कूलों की बागडोर पतंजलि विद्यापीठ को ‘PPP’ मोड पर देकर प्रदेश में शिक्षा के निजीकरण के युग की शुरुआत कर दी है।” यह जानकारी साझा करते हुए ‘शासकीय अध्यापक संगठन’ के मध्य प्रदेश उपाध्यक्ष पृथ्वी सिंह रघुवंशी ने आगे बताया कि “सरकार ने बड़ी ही चतुराई से राज्य में शिक्षा के निजीकरण के ख़िलाफ़ अध्यापकों को लामबन्द ही नहीं होने दिया है।” Privatization of government schools started in MP https://www.bhopalsamachar.com/2021/12/mp-news_52.html?m=1 Privatization of government schools started in MP

‘शासकीय अध्यापक संगठन’ का कहना है कि सरकार जो शिक्षा के क्षेत्र में यह नई योजना लेकर आयी है यह अध्यापकों के लिए आत्मघाती सिद्ध होगी। यदि जल्द ही इस संबंध में नहीं सोचा गया तो प्रदेश में ‘राज्य परिवहन विभाग और MPEB की ही तरह शिक्षा विभाग भी बर्बाद हो जाएगा.. इसलिए शिक्षा, शिक्षक व विद्यार्थियों तीनों के हितों की रक्षा को ध्यान में रखते हुए एक समग्र कार्यक्रम बनाकर संगठनों को आगे बढ़ाया जाये तब ही इस दलदल से निकला जा सकता है।” Privatization of government schools started in MP
ये भी पढ़ें- https://hindi.news18.com/news/madhya-pradesh/bhopal-privatization-of-schools-in-madhya-pradesh-1501495.html

यह भी पढ़ें- कर्नाटक: निकाय चुनाव में 498 सीटें जीत काँग्रेस बनी सबसे बड़ी पार्टीCongress won the maximum 489 seats in the Karnataka civic elections

 

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]