Rail Madad App: ट्रैन पैसेंजर ने ‘रेल मदद’ ऐप पर पूछा “ट्रैन कितनी लेट है?” उत्तर मिला “आपके पिताजी का क्या जाता है, कितनी भी लेट हो? रेलवे ने लिया एक्शन

Rail Madad App: ट्रैन पैसेंजर ने ‘रेल मदद’ ऐप पर पूछा “ट्रैन कितनी लेट है?” उत्तर मिला “आपके पिताजी का क्या जाता है, कितनी भी लेट हो? रेलवे ने लिया एक्शन

रतलाम,मध्यप्रदेश: Rail Madad App-
भारतीय रेलवे आमतौर पर यात्रियों को अच्छी और आरामदायक यात्रा उपलब्ध कराने के दावे करती है, इसीलिये रेलवे ने यात्रियों की सहायता के लिये ‘रेल मदद’ ऐप भी लॉन्च की हुई है। साथ ही सभी रेलवे अधिकारियों को यात्रियों की हर प्रकार से मदद करने की हिदायत भी दी हुई है। लेकिन जब एक यात्री ने ‘रेल मदद’ ऐप पर ट्रेन लेट होने की बात पूछी तो ऐप की तरफ़ से बड़ा ही हैरान करने वाला और शर्मनाक जवाब मिला।

Rail Madad App

दरअसल मध्यप्रदेश के रतलाम निवासी एक रेलवे पैसेंजर ने ‘रेल मदद’ ऐप पर पूछ लिया कि “गोल्डेन टेम्पल ट्रेन कितनी लेट है..?” लेकिन रतलाम रेल मण्डल के स्टाफ़ ने यात्री को जवाब दिया कि “आपके पिता जी का क्या जाता है? ..कितनी भी लेट हो?” यात्री रेल स्टाफ़ के इस आपत्तिजनक व्यवहार से इतना दुःखी हुआ कि रेल प्रशासन को इसकी शिकायत कर दी। (Rail Madad App)

यात्री की यह शिकायत मिलने के बाद रेलवे प्रशासन तुरन्त हरकत में आया और रतलाम में ‘रेल मदद’ एप पर लोगों की मदद करने और अपडेट देने वाले ऑपरेटिंग विभाग के 3 कर्मचारियों को फ़ौरन प्रभाव से निलम्बित कर दिया। लेकिन निलम्बित किये कर्मचारियों ने अपनी स्पष्टीकरण में कहा कि ‘रेल मदद’ एप हैक हो गयी। (Rail Madad App)

बता दें कि यह ‘रेल मदद’ ऐप यात्रियों को रेल यात्रा संबंधी जानकारी देने, यात्रा के दौरान कोच लाईट न जलने, पँखे न चलने, पानी न होने अथवा गंदा जल सप्लाई होने, एयरकंडीशनर न चलने, बेडरोल न मिलने इत्यादि की 24 घंटे शिकायतें की जा सकती हैं, या जानकारी ली जा सकती है। (समाचार श्रोत: नई दुनिया)
यह भी पढ़ें- राजस्थान में बेरोज़गारी से परेशान पिता ने अपने 11 महीने के बच्चे को नहर में फेंककर का मार डाला, कहा बेरोज़गार हूँ खिलाने को कुछ नहींRajasthan News

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]