जानिये RTI की सूचना में 1990 में कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कितने कश्मीरी पण्डितों के मारे जाने और पलायन करने वालों की संख्या का ख़ुलासा हुआ है?-RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion

जानिये RTI की सूचना में 1990 में कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कितने कश्मीरी पण्डितों के मारे जाने और पलायन करने वालों की संख्या का ख़ुलासा हुआ है?-RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion

चण्डीगढ़: 
RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion- जब से देश में “The Kashmir Files” फ़िल्म रिलीज़ हुई है तब से कश्मीरी पण्डितों पर हुए 1990 में हुए अत्याचारों और ‘The Kashimir Files’ फ़िल्म को लेकर रोज़ कुछ न कुछ नई ख़बरें सामने आ रही है। अब कश्मीरी पण्डितों के संदर्भ में हरियाणा पानीपत के RTI कार्यकर्ता पीपी. कपूर की तरफ़ से माँगी गई सूचना के अधिकार के अन्तर्गत जानकारी ने देश में हंगामा मचा रही फ़िल्म ‘The Kashmir Files’ के दावों पर प्रश्नचिह्न खड़े कर दिये हैं। (RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion)RTI on Kashmiri Pandit's migrattion

दरअसल ‘The Kashmir Files’ फ़िल्म में दर्शायी गई कहानी में कश्मीर घाटी में कश्मीरी पण्डितों के नरसंहार के दावे किये गये हैं। लेकिन RTI कार्यकर्ता पीपी. कपूर को सूचना के अधिकार के तहत कश्मीर DSP हेडक्वार्टर से विगत 27 नवम्बर 2021 को जो सूचना (RTI) में मिली है वह फ़िल्म की कहानी से अलग है। RTI कार्यकर्ता पीपी. कपूर ने बताया कि “वर्ष-1990 से कश्मीर में आतंकवाद शुरु होने से लेकर अब तक इन 31 वर्षों में जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के हाथों कुल 1724 लोग मारे गये हैं जिनमें से कुल 5 प्रतिशत अर्थात 89 कश्मीरी पण्डित मारे गये। जबकि आतंकियों के हाथों मारे गये कुल 1724 लोगों में 95 प्रतिशत यानी 1635 लोग अन्य हैं।” (RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion)RTI on Kashmiri Pandit's migrattion

पलायन करने वालों में सबसे ज़्यादा कश्मीरी पण्डित:
वहीं पीपी. कपूर ने प्राप्त RTI सूचना के आधार पर बताया कि “कश्मीर घाटी से पलायन करने वाले कुल 1,54,161 लोगों में सबसे ज़्यादा 1,35,426 अर्थात 88 प्रतिशत कश्मीरी पण्डित हैं। जबकि अन्य पलायन करने वालों में मुस्लिम,सिख और अन्य की संख्या केवल 12 प्रतिशत है।” RTI एक्टिविस्ट पीपी.कपूर ने बताया कि “पलायन के बाद ‘घर वापसी’ करने वाले कश्मीरी पण्डितों और अन्य लोगों की संख्या की सूचना कश्मीर के डिवीज़नल कमिश्नर ने 9 महीनों में भी नहीं दी है।” (RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion)

पीपी. कपूर ने कहा कि “इस चौंकाने वाले ख़ुलासे से फ़िल्म ‘The Kashmir Files’में कश्मीरी पण्डितों के कथित नरसंहार के झूठे दावों की पोल खुल गई है.. उन्होंने कहा कि “पीड़ित कश्मीरी पण्डितों का इस्तमाल सिर्फ़ वोट बटोरने के लिये ही किया जा रहा है जबकि सच्चाई में ऐसा कुछ भी नहीं है।” (RTI on Kashmiri Pandit’s migrattion)

रिलीफ़ एण्ड रिहैबिलिटेशन कमिश्नर जम्मू कार्यालय से RTI के तहत माँगी गई सूचना के अनुसार विगत 31 वर्षों में कुल पलायन करने वाले 1,54,161 वलोगों में 1,35,426 कश्मीरी पण्डितों और 18,735 मुस्लिमों ने पलायन किया है। लेकिन इनमें से कुल 53,978 हिन्दुओं ,11,212 मुस्लिमों, 5,013 सिखों और 15 अन्य लोगों को ही सरकारी मदद मिल रही है। जबकि 81,448 कश्मीरी पण्डित, 949 मुस्लिम, 1,542 सिख और 4 अन्यों सहित कुल 83,943 लोग सरकारी मदद से वंचित हैं।”
(इनपुट-पंजाब केसरी)

यह भी पढ़ें- अब लेखिका तस्लीमा नसरीन आयी ‘द कश्मीर फाइल्स’ मूवी के समर्थन में, कहा बांग्लादेश से हिन्दुओं के पलायन पर अब तक कोई फ़िल्म क्यूँ नहीं बनी?Taslima Nasreen raised the issue of migration of Hindus from Bangladesh

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]