कश्मीर में नया परिसीमन,जम्मू में 6 और कश्मीर में 1 नई विधानसभा सीटें बढ़ेंगी, विपक्ष ने उठाए सवाल- Seven assembly seats will increase in Jammu and Kashmir

कश्मीर में नया परिसीमन,जम्मू में 6 और कश्मीर में 1 नई विधानसभा सीटें बढ़ेंगी, विपक्ष ने उठाए सवाल– Seven assembly seats will increase in Jammu and Kashmir

नई दिल्ली:
जम्मू कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद अब यहाँ पुनः विधानसभा सीटों का परिसीमन किया जा रहा है। परिसीमन आयोग ने जम्मू में छः और कश्मीर घाटी में एक विधानसभा सीट बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। इसके साथ ही देश मे इस मुद्दे पर राजनीति शुरु हो गई है। विपक्षी राजनीतिक दलों ने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार और चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। इस नए परिसीमन के बाद जम्मू में विधानसभा सीटों की संख्या 43 व कश्मीर में 47 हो जाएगी। इनमें ST के लिए 9 और SC के लिए 7 सीटें रिज़र्व रखी जायेंगी। Seven assembly seats will increase in Jammu and KashmirSeven assembly seats will increase in Jammu and Kashmir

जम्मू कश्मीर के नये परिसीमन पर केंद्र सरकार के परिसीमन आयोग ने सोमवार को दिल्ली में एक बैठक की जिस में नये परिसीमन पर चर्चा हुई लेकिन इस नये परिसीमन के प्रस्ताव को लेकर जम्मू कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों ने केंद्र के इस क़दम को पक्षपातपूर्ण व अस्वीकार्य बताया। वहीं बैठक में शामिल हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष व सांसद फ़ारूक़ अब्दुल्ला ने इस प्रस्ताव की पुष्टि करते हुए कहा कि “31 दिसम्बर तक इस मसौदे कीऔपचारिक रूप से विज्ञप्ति जारी कर दी जायेगी।” Seven assembly seats will increase in Jammu and KashmirSeven assembly seats will increase in Jammu and Kashmir

वही दूसरी तरफ़ जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने इस प्रस्ताव का विरोध करते हुए अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा कि “जम्मू कश्मीर परिसीमन आयोग के इस मसौदे कि सिफ़ारिश अस्वीकार्य है..इस प्रस्ताव के अनुसार जम्मू को 6 नयी सीटें मिल रही हैं जबकि कश्मीर की नयी सीटों की संख्या मात्र एक ही है। यह वर्ष- 2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार कतई उचित नहीं है।” Seven assembly seats will increase in Jammu and Kashmir

यह भी पढ़ें- बिहार में दूसरा नटवरलाल बना रेलवे इंजीनियर, फ़र्ज़ी काग़ज़ात से बेच दिया ट्रैन का इंजनEngineer sold train engine with fake paper in Bihar

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]