South Korea stampede Incident: साउथ कोरिया में एक पार्टी में मची भगदड़ से 151 लोगों की मौत और 82 लोग घायल

South Korea stampede Incident: साउथ कोरिया में एक पार्टी में मची भगदड़ से 151 लोगों की मौत और 82 लोग घायल

सियोल: South Korea stampede Incident- दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल की मार्केट में चल रही हेलोवीन पार्टी में खौफनाक मंजर देखने को मिला. जहां कथित रूप से 1 लाख लोगों की भीड़ में भगदड़ मच गई, जिसके बाद दर्जनों लोग सड़क पर बेसुध होकर गिर गए. मरने वालों की संख्या बढ़कर 151 हो गई है जबकि 82 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं।

इस घटना का पता चलते ही पुलिस व मेडिकल टीम घटनास्थल पर पहुंची। स्वास्थ्य जाँच में पता चला कि 50 से ज़्यादा लोगों को तो एक साथ ही हार्ट अटैक आया था। इस पार्टी में जहाँ जश्न का माहौल था देखते ही देखते जश्न मातम में बदल गया। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिस में पुलिसकर्मी सड़कों पर अचेत पड़े लोगों को सीपीआर देते दिखाई रहे हैं। (South Korea stampede Incident)

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार इस दुर्घटना के संबंध में दक्षिण कोरियाई अधिकारियों के हवाले से बताया जा रहा है कि दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हेलोवीन फेस्टिवल के दौरान मची भगदड़ में कुचले जाने के चलते सैकड़ों लोग घायल हो गये जबकि बहुत से लोगों के मारे जाने की आशंका है। (South Korea stampede Incident)

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स में दक्षिण कोरियाई नेशनल फ़ायर एजेंसी के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि बीती (शनिवार की ) रात इटावन लेजर क्षेत्र में भीड़ बढ़ने के कारण लगभग 82 लोग घायल हो गये, और बहुत से लोगों की हार्ट अटैक और भगदड़ में कुचले जाने से से मौत हो गई। (South Korea stampede Incident)

घटना के बाद दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ‘यूं-सुक येओल’ ने एक आधिकारिक बयान जारी करते हुए अधिकारियों को दुर्घटना में घायल हुए लोगों को त्वरित और समुचित उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने हेल्थ मिनिस्ट्री को घायलों के उपचार हेतु निकटवर्ती हॉस्पिटल में आपदा चिकित्सा सहायता टीमों व सुरक्षित और समुचित बैडस की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।
यह भी पढ़ें- बीजेपी सांसद बृजभूषण ने दिया मुस्लिमों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला बयान, कहा हम मुस्लिमों को दोबारा हिन्दू बनायेंगेBJP MP Brij Bhushan Controversial Statement-

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]