बस्‍ती ज़िले में बच्‍चों को मिलीं VVPAT से निकली हुई पर्चियां व EVM एड्रेस टैग, ज़िलाधिकारी ने दिया यह स्पष्टीकरण-Suspicious slips of vvpat found in basti

बस्‍ती ज़िले में बच्‍चों को मिलीं VVPAT से निकली हुई पर्चियां व EVM एड्रेस टैग, ज़िलाधिकारी ने दिया यह स्पष्टीकरण-Suspicious slips of vvpat found in basti

बस्‍ती: 
Suspicious slips of vvpat found in basti- उत्तर प्रदेश के बस्ती ज़िले में विधानसभा चुनाव में बनाये गये स्ट्रांग रूम के बाहर मण्डी समिति की टूटी चाहरदीवारी के पास VVPAT से निकली पर्चियां, EVM एड्रेस टैग व कुछ अन्‍य प्रपत्र कूड़े में फेंके मिले हैं। जब लोगों ने खेलते हुए बच्चों के हाथों में इन पर्चियों को देखा तो इसकी सूचना राजनैतिक दलों तक पहुँच गई। जिसके बाद सपा, बीएसपी सहित अन्य दलों के प्रत्याशी और समर्थक बड़ी संख्या में मण्डी समिति पहुँचे और प्रशासन पर फ़र्ज़ीवाड़ा करने का आरोप लगाया। सपा, बीएसपी प्रत्याशियों ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करने के बाद चुनाव प्रेक्षकों से मुलाक़ात कर मामले की उच्च स्तरीय जाँच की माँग की। (Suspicious slips of vvpat found in basti )

इस संबंध में बस्ती के ज़िलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने एक वीडियो जारी कर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि “मण्डी समिति परिसर के बाहर मिली VVPAT की पर्चियां कमीशनिंग के समय की हैं, जब EVM में प्रत्याशियों के नाम और सिंबल फीड किये जाते हैं तो उस समय जाँच के लिये किये गये पोल की यें VVPAT पर्चियां हैं। इन पर्चियों का वास्‍तविक मतदान में निकलीं VVPAT पर्चियों से कोई सम्बन्ध नहीं है। वास्तविक पोल EVM व VVPAT प्रत्याशियों व उनके प्रतिनिधियों के सामने स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रखे गये हैं। और स्ट्रांग रूम की 3 लेयर सुरक्षा है। (Suspicious slips of vvpat found in basti )

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]