‘मथुरा की बारी’ का असर? असामाजिक तत्वों ने तोड़ी बरसों पुरानी मज़ार-Tomb destroyed in Mathura

‘मथुरा की बारी’ का असर? असामाजिक तत्वों ने तोड़ी बरसों पुरानी मज़ार-Tomb destroyed in Mathura

मथुरा: 
Tomb destroyed in Mathura- उत्तर प्रदेश के मथुरा में कोतवाली थानाक्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित दोताना गाँव में असामाजिक तत्वों द्वारा एक प्राचीन मज़ार पर तोड़फोड़ कर क्षेत्र में धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास किया गया है। मज़ार पर तोड़फोड़ की घटना की सूचना मिलते ही मुस्लिम समाज और हिन्दू समाज के लोग घटनास्थल पर पहुँचे और इस घिनौनी हरकत की कड़ी निन्दा की।

मौक़े पर मौजूद लोगों ने इस घटना को अंजाम देने वाले असामाजिक तत्वों के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही किये जाने की माँग की। लोगों का कहना है कि घटना को अंजाम देने वाले लोगों ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास किया है। इस दौरान मौक़े पर उपस्थित लोगों की सूचना पर थाना कोतवाली छाता पुलिस व तहसील के कर्मचारी भी घटनास्थल पर पहुँचे और घटनास्थल का निरीक्षण किया। (Tomb destroyed in Mathura)

वहीं सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुँचे समाजसेवी जाहिद अली लम्बरदार और अन्य लोगों ने पुलिस को बताया कि “असामाजिक तत्वों ने मज़ार की दीवार को तोड़ने के साथ साथ मज़ार के भीतर रखी क़ुरआन के साथ भी छेड़छाड़ की है। इसलिये आरोपियों के विरुद्ध कड़ी क़ानूनी कार्यवाही किये जाने की आवश्यकता है।” (Tomb destroyed in Mathura)

घटना की जानकारी देते हुए गाँव दौताना के समाजसेवी जाहिद अली लम्बरदार व अन्य गणमान्य लोगों ने कहा कि “यह मज़ार लगभग 600 साल पुरानी है जिस के प्रति मुस्लिम और हिन्दू दोनों ही समुदायों के लोगों के बीच बहुत बड़ी आस्था है।” ज़िला प्रशासन ने लोगों को किसी तरह से समझाया बुझाया और क्षेत्र में शान्ति व्यवस्था को बिगड़ने से बचाया। साथ ही पुलिस-प्रशासन ने घटना को अंजाम देने वाले लोगों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने का भरोसा दिया है। (Tomb destroyed in Mathura

यह भी पढ़ें- हरियाणा के जंगल से बरामद हुए 230 बम, यें बम कहाँ से आये और किसके हैं? इसकी पहचान के लिये पुलिस ने बुलाई सेनाHundreds of bombs found in Haryana

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]