Twin Tower Demolition Update: बस कुछ देर बाद ही धराशायी हो जायेंगे विवादित ट्विन टावर्स, 3500 किलोग्राम विस्फोटक से मात्र 12 सेकिंड में मलबे में तब्दील हो जायेंगे टावर्स

Twin Tower Demolition Update: बस कुछ देर बाद ही धराशायी हो जायेंगे विवादित ट्विन टावर्स, 3500 किलोग्राम विस्फोटक से मात्र 12 सेकिंड में मलबे में तब्दील हो जायेंगे टावर्स

एनसीआर/नोएडा: Twin Tower Demolition Update: यूपी के नोएडा में सेक्टर-93 में स्थित 32 मंज़िला ट्विन टावर आज रविवार को ध्वस्त कर दिये जायेंगे। लगभग 300 करोड़ रुपये की लागत से बने इन ट्विन टावर्स को ज़मींदोज़ करने के लिये 3500 किलो विस्फोटक लगाया गया है, जिसकी सहायता से आज दोपहर 2:30 बजे इन टावर्स को कुछ ही सेकंड्स में विस्फोट करके गिरा दिया जायेगा। बताया जा रहा है कि इन ट्विन टावर्स के ध्वस्तीकरण में लगभग 17 करोड़ रुपये का ख़र्च आयेगा, और इसका ख़र्च भी बिल्डर ही उठायेगा।

 

 

फ़िलहाल सुरक्षा कारणों से एमराल्ड कोर्ट और उसके आसपास की सोसायटी के फ्लैट्स को भी ख़ाली करा लिये गये हैं। इस क्षेत्र से सुरक्षा कारणों से लगभग 3 हज़ार वाहन और लगभग 200 की संख्या में पालतू पशुओं को भी यहाँ से बाहर निकाला गया है। सुपरटेक के एमरोल्ड सोसाइटी और आसपास की सोसायटी से सभी लोग मकान ख़ाली कर चुके हैं। अब कुछ ही घंटों बाद दोपहर ढाई बजे यें गगनचुम्बी ट्विन टावर्स मलबे में दबदील हो जायेंगे। (Twin Tower Demolition Update)

जानिये क्यों गिराये जा रहे हैं यें ट्विन टावर्स?
इन ट्विन टावर्स की कहानी शुरु होती है 23 नवम्बर 2004 को, जब नोएडा डेवलपमेंट अथॉरिटी ने नोएडा के सेक्टर-93A स्थित प्लॉट संख्या-4 को ‘एमराल्ड कोर्ट’ के लिये आवंटित किया था। और भूमिआवंटन के साथ ही ग्राउण्ड फ़्लोर सहित 9 मन्ज़िल तक निर्माण करने की अनुमति दी गयी। इसके 2 वर्ष बाद 29 दिसम्बर-2006 को अनुमति प्रक्रिया में संसोधन करके नोएडा डेवलपमेंट अथॉरिटी ने इसको 9 मन्ज़िल के स्थान पर 11 मन्ज़िल तक निर्माण करने की अनुमति दे दी गयी।

Twin Tower Demolition Update

इसके बाद फ़िर नोएडा अथॉरिटी ने अनुमति में संसोधन कर सुपरटेक को 9 के स्थान पर 11 मन्ज़िल तक फ्लैट्स बनाने की अनुमति दे दी गयी। फ़िर नोएडा अथॉरिटी ने टावर्स बनाने की संख्या को बढ़ा दिया, पहले जहाँ सुपरटेक समूह के 14 टावर बनने थे, फ़िर इन्हें बढ़ाकर 15 और फ़िर 16 कर दिया गया। इसके बाद फ़िर वर्ष-2009 में नोएडा अथॉरिटी ने 17 टावर्स बनाने का नक़्शा पास कर दिया। (Twin Tower Demolition Update)

2 मार्च-2012 को टावर्स 16 और 17 के लिये संशोधन कर इन दोनों टावर्स को 40 मन्ज़िल तक फ्लैट्स निर्माण की अनुमति मिल गयी। और इसकी ऊँचाई 121 मीटर निर्धारित की गई। टावर्स के निर्माण के लिये इन दोनों टावर के बीच की दूरी 9 मीटर रखी गयी। जबकि नियमों के अनुसार 2 टावर्स के बीच की दूरी मिनिमम 16 मीटर होनी चाहिये थी।

Twin Tower Demolition Update

अनुमति मिलने के बाद टावर्स का निर्माण शुरु-
निर्माण की अनुमति मिलने के बाद सुपरटेक समूह ने एक टावर में 32 मन्ज़िल तक और दूसरे टावर में 29 मन्ज़िल तक का निर्माण कार्य भी पूरा कर लिया तब। इसके बाद जब यह मामला अदालत में पहुँचा तो टावर्स बनाने में हुए भ्रष्टाचार की परतें परत दर परत खुलती गयी, और ऐसी परतें खुली कि आज इन ट्विन टावर्स को धराशायी करने की स्थित आ पहुँची। (Twin Tower Demolition Update)

Twin Tower Demolition Update

मामला कोर्ट में पहुँचा?
अदालती कार्यवाही के बीच वर्ष-2014 में हाईकोर्ट ने इन ट्विन टावर्स को तोड़ने का आदेश दिया। मामले की आरम्भिक जाँच नोएडा अथॉरिटी के लगभग 15 अधिकारियों और कर्मचारियों दोषी क़रार दिया गया, इसके बाद जब उच्चस्तरीय जाँच कमेटी ने मामले की पूरी गम्भीरता से जाँच की तो नोएडा अथॉरिटी के 24 अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी।

कोर्ट से टावर्स को तोड़ने के हुए आदेश-
सुपरटेक समूह इलाहाबाद हाईकोर्ट के टावर्स को तोड़ने के आदेश के विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट पहुँचा, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने भी 7 वर्षों तक चली इस का क़ानूनी लड़ाई के बाद 31 अगस्त-2021 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्णय को यथावत रखते हुए 3 महीने के भीतर इन ट्विन टावर्स को गिराने का आदेश दे दिया। (Twin Tower Demolition Update)

बाद में इस तारीख़ को आगे बढ़ाकर 22 मई-2022 कर दिया था। लेकिन समय सीमा के अन्दर टावर्स गिराने की तैयारी पूरी न होने के कारण इस तारीख़ को फ़िर से आगे बढ़ा दिया था। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत आज यानि 28 अगस्त दिन रविवार को दोपहर 2:30pm बजे ट्विन टावर्स को दधराशायी किया जा रहा है। (Twin Tower Demolition Update)
यह भी पढ़ेंभारत पाकिस्तान के बीच 28 अगस्त को होने जा रहे मैच को आप मुफ़्त में कैसे और कहाँ देख सकते हैं? जानिये डिटेल्सHow To Watch India vs Pakistan Match

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]