UP Madarsa News: यूपी में अब ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों का होगा सर्वे, मूलभूत सुविधाओं के अलावा मदरसों के आय के स्रोत का डेटा भी कलेक्ट करेगी सरकार

UP Madarsa News: यूपी में अब ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों का होगा सर्वे, मूलभूत सुविधाओं के अलावा मदरसों के आय के स्रोत का डेटा भी कलेक्ट करेगी सरकार

लखनऊ: UP Madarsa News-
उत्तर प्रदेश सरकार अब ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों का सर्वे कराने जा रही है। सरकार द्वारा कहा जा रहा है कि मदरसों में मूलभूत सुविधाओं की वस्तुस्थिति जानने के लिये ही सरकार द्वारा यह मदरसों का सर्वे कराया जायेगा, और इस सर्वे से मदरसों के कर्मचारियों व महिलाओं को फ़ायदा मिलेगा।UP Madarsa News

अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमन्त्री दानिश अंसारी का बयान-
इस संबंध में राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमन्त्री दानिश आज़ाद अंसारी ने बताया कि “प्रदेश सरकार ने मदरसों में पढ़ने वाले छात्र और छात्राओं को मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिये प्रदेश के सभी ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों का सर्वे कराने का निर्णय लिया है। और यह सर्वे कि जल्द ही शुरु हो जायेगा।” (UP Madarsa News)

अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमन्त्री दानिश आज़ाद अंसारी के अनुसार सरकार के इस आदेश के तहत अब प्रदेश के मदरसों में प्रबन्ध समिति के विवादित होने अथवा समिति के किसी सदस्य के ग़ैर मौजूदगी की स्थिति में मदरसों के प्रिंसीपल व डिस्ट्रिक्ट माइनॉरिटी ऑफिसर्स मृतक आश्रित कोटे अन्तर्गत नियुक्तियां कर सकेंगे। जबकि इससे पहले (वर्तमान में) प्रबन्ध समितियों में ऐसी स्थिति मे मृतक आश्रित को नौकरी के लिये बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।” (UP Madarsa News)

दानिश आज़ाद अंसारी ने बताया कि “अब सहायता प्राप्त मदरसों के टीचर्स और नॉन टीचिंग स्टाफ़ का संबंधित मदरसे के प्रबंधकों की सहमति व राज्य मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार के अनुमोदन के बाद ही ट्रान्सफर किया जा सकेगा।” दानिश अन्सारी ने बताया कि “अब मदरसों की महिला कर्मचारियों को भी माध्यमिक शिक्षा विभाग व बेसिक शिक्षा विभाग में लागू नियमों के अनुसार मैटरनिटी लीव व छोटे बच्चों की देखभाल वाली छुट्टीयाँ भी मिल सकेंगी।” (UP Madarsa News)UP Madarsa News

सर्वे के कुछ बिंदु-
यूपी की योगी सरकार द्वारा ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वे आदेश के अन्तर्गत मदरसे का नाम, मदरसे को संचालित करने वाली संस्था का नाम, मदरसा निजी भूमि पर है या किराये की भूमि/भवन में चल रहा है, मदरसों में अध्ययनरत छात्र व छात्राओं की संख्या, बिजली, पानी, फर्नीचर, शौचालयों की व्यवस्था, अध्यापकों की संख्या, मदरसों में लागू शिक्षा सिलेबस, मदरसे की आय का स्रोत क्या है और कहाँ से है? और मदरसे की किसी ग़ैर सरकारी संस्था से सम्बद्धता जैसे बिंदुओं पर सूचना एकत्रित की जायेगी। (UP Madarsa News)

क्या सर्वे के बाद ग़ैर मान्यता वाले मदरसों को मान्यता दी जायेगी?
नये मदरसों की मान्यता देने या न देने के सवाल के जवाब में अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमन्त्री दानिश आज़ाद अंसारी ने कहा कि “अभी तो सरकार का उद्देश्य मात्र ग़ैर मान्यता प्राप्त मदरसों के बारे में सूचनायें एकत्रित करना है।” (UP Madarsa News)
यह भी पढ़ें- हैदराबाद में मुस्लिम फ़ूड डिलीवरी बॉय से ग्राहक ने खाना लेने से किया मना, सोशल यूज़र्स ने की ग्राहक पर कार्यवाही की माँग?Muslim Food delivery Controversy

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]