अजब ग़ज़ब: रोड़वेज बस कन्डक्टर मैजिक पेन से टिकट बनाकर कर रहे थे फर्ज़ीवाड़ा, 6 कन्डक्टरों की सेवा हुई समाप्‍त- UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj

अजब ग़ज़ब: रोड़वेज बस कन्डक्टर मैजिक पेन से टिकट बनाकर कर रहे थे फर्ज़ीवाड़ा, 6 कन्डक्टरों की सेवा हुई समाप्‍त– UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj

प्रयागराज: 
यूपी राेडवेज बस में यात्रा के दौरान बस परिचालकों द्वारा यात्रियों के टिकट मैजिक पेन से बनाकर यूपी परिवहन विभाग को लाखों रुपये का चूना लगाये जाने का मामला प्रकाश में आया है। जब इस मामले की छानबीन हुई थी तो पता चला कि इस मैजिक पेन टिकटों के खेल में रोडवेज के कई परिचालक शामिल हैं और यें परिचालक एक लंबे समय से यह फ़र्ज़ीवाड़ा करते आ रहे हैं। जाँच के बाद इन परिचालकों के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही करते हुए इनकी संविदा सेवा समाप्त कर दी गई है। (UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj)

जानकारी के अनुसार प्रयागराज सिविल लाइंस डिपो के कई बस परिचालक यात्रियों के टिकट बनाते समय एक विशेष मैजिक पेन का प्रयोग करते थे। बाद में इन टिकटों पर मैजिक पेन से लिखी गई जानकारी मिट जाती थी। और फ़िर यें परिचालक टिकटों का पैसा खुद हज़म कर जाते थे। जब इस फ़र्जीवाड़े की शिकायत रोडवेज अधिकारियों तक पहुँची तो इसकी जाँच शुरु हुई। इस जाँच की कार्यवाही प्रयागराज परिक्षेत्र के 995 परिचालकों के ‘ओके मार्ग पत्रों ‘ को अल्ट्रावायलेट लैंप के ज़रिये जाँचा गया तो जाँच प्रक्रिया के दौरान 6 परिचालकों के मार्ग पत्रों में गड़बड़ी नज़र सामने आयी। (UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj)

6 बस परिचालकों की हुई सेवा समाप्त:
इस संबंध में सिविल लाइंस डिपो के ARM सी.बी राम ने बताया कि “जाँच प्रक्रिया के दौरान कुल 6 (संविदा) परिचालक प्रवीण कुमार, विवेक कुमार यादव, चंदन यादव, विनय कुमार भारती, सुनील कुमार , शुभम त्रिपाठी ने मैजिक पेन का प्रयोग करके परिवहन विभाग को लाखों रुपये की चपत लगाने के मामले में दोषी पाये गये हैं। और इनके विरुद्ध जाँच रिपोर्ट के आधार पर संविदा सेवा समाप्त कर दी गई है, तथा अग्रिम क़ानूनी कार्यवाही भी की जायेगी।” (UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj)

कैसे करते थे मैजिक पेन से फ़र्ज़ीवाड़ा?
यें बस परिचालक एक ख़ास मैजिक पेन से यात्रियों के टिकट काटते थे, यात्री ने अपने गंतव्य तक का किराया देते लेकिन बाद में यें परिचालक किसी कैमिकल से मैजिक पेन की स्याही मिटाकर वास्तविक अंकित सूचना अपने मार्ग पत्रों से ग़ायब कर अपनी मर्ज़ी से यात्रा दूरी घटाकर और कम किराया करके मार्ग पत्रों में फ़र्ज़ी जानकारी अंकित करके विभाग को पैसों की चपत लगा रहे थे। (UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj)

जानिये क्या होता है यह मैजिक पेन:
दरअसल यह मैजिक पेन कोई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या कोई जादुई पेन नहीं होता बल्कि एक सामान्य बॉल पेन की तरह ही होता है, बस फ़र्क होता है इसकी स्याही में। इस मैजिक पेन की स्याही ऐसी होती है कि उसकी लिखाई केमिकल से आसानी से मिट जाती है। जब इस मैजिक पेन से जब टिकट पर कुछ लिखा जाता है तो वह बिल्कुल साफ़ दिखाई देता है लेकिन जब लिखाई पर केमिकल डाला जाता है तो लिखाई बिल्कुल साफ़ हो जाती है। इसके बाद टिकट अथवा कागज़ पर फ़िर चाहे कुछ भी लिख सकते हैं। हालांकि ऐसे पेन के अलावा कुछ मैजिक पेन ऐसे भी होते हैं जिनकी लिखाई सामान्य आँखों से तो दिखाई नहीं देती लेकिन जब कागज़ को अल्ट्रावायलेट लाइट में देखा जाता है तो लिखाई साफ़ दिखाई देती है। (UP Roadways Bus Conductors Scam In Prayagraj)

यह भी पढ़ें- महाराष्ट्र: एक बन्द दुकान में मिले 8 मानव कान, 1 खोपड़ी और 2 आँखें, डिब्बा खुलते ही भागे लोगNashik News

 

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]