जानिये पाकिस्तान में नये प्रधानमंत्री शाहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) की ताजपोशी पर भारत के इस राज्य में क्यूँ मनाया गया जश्न? What is Shahbaz Sharif related to India’s Punjab Tarn Taran?

चण्डीगढ़ : 
What is Shahbaz Sharif related to India’s Punjab Tarn Taran? पाकिस्तान मुस्लिम लीग (N) के नेता शहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) की पाकिस्तान के 23-वें प्रधानमंत्री के रुप में ताजपोशी हो चुकी है। उधर उन्होंने पद और गोपनीयता की शपथ ली इधर भारत के पंजाब के तरनतारन के में उनके पैतृक गाँव में जश्न मनाया गया है। इस गाँव में अरदास की गई और ख़ूब खुशियां मनाई गई।

इस गाँव का नाम ‘जाती उमरा’ (Jati Umra) जो पंजाब के तरनतारन (Tarantaran) ज़िले में आता है और यह गाँव पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री शहबाज़ शरीफ़ का पैतृक गाँव है। आज़ादी से पूर्व इसी गाँव में उनका परिवार रहता था। और आज भी यहाँ शहबाज़ शरीफ़ और नवाज़ शरीफ़ के परदादा मियां मोहम्मद की क़ब्र है।

गुरुघर से ख़ास संबंध-
इस गाँव की पाकिस्तान के लाहौर से की दूरी मात्र 81 किलोमीटर है। ग्रामीणों के अनुसार वर्ष- 1932 में शहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) का परिवार पाकिस्तान चला गया था। स्वतंत्रता के समय तक इस गाँव के इनकी लोग लाहौर स्थित फैक्ट्री में ही काम किया करते थे लेकिन पार्टीशन में ईनका परिवार भी पाकिस्तान में शिफ़्ट हो गया था। यह पूरा गांव 175 एकड़ में बसा है। यहहां एक गुरुघर बनाया गया है जो शहबाज शरीफ के परिवार की ज़मीन पर ही बना है। शहबाज़ शरीफ़ और उनके भाई नवाज़ शरीफ़ को इस ज़मीन से आज भी बहुत लगाव है।

अरदास कर चढ़ाई गई चादर-
ग्रामीण बताते हैं कि उनके प्रधानमंत्री बनने के बाद यहाँ अरदास की गई और उनके परदादा की क़ब्र पर चादर चढ़ाई गई। जो भी यहाँ अरदास करने आता है शहबाज़ शरीफ़ के परिवार को ज़रुर याद करता है। गाँव वालों का कहना है कि अब शहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बन गये हैं तो अब दोनों देशों के रिश्तों की ख़टास ज़रुर कम होगी और नये रिश्ते की शुरुआत होगी।

गाँव के नाम से ही दुबई में जाती है गाँव के युवाओं को नौकरी-
ग्रामीण बताते हैं कि भले ही दो अलग देश बन गये हो लेकिन आज भी शहबाज़ शरीफ़ के परिवार के इस जाति उमरा गाँव से उतना ही लगाव है जैसा पहले था। इस गाँव के कई युवा वर्तमान में दुबई में नवाज़ शरीफ़ और शहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) की फैक्ट्रियों में काम कर रहे हैं। वे बताते हैं कि वहाँ जाने पर उन्हें सिर्फ़ ‘जाती उमरा’ गाँव का नाम बताने से ही नौकरी मिल जाती है।

बता दें कि पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शहबाज़ शरीफ़ (Shahbaz Sharif) पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के भाई हैं। नवाज़ शरीफ़ को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद से अपदस्थ किये जाने के बाद से वह पार्टी के प्रेसिडेंट भी हैं। शाहबाज़ शरीफ़ को पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त के सब से ज़्यादा समय तक मुख्यमंत्री रहने का गौरव प्राप्त है। वह 3 बार पंजाब प्रान्त के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

यह भी पढ़ें- 👇
https://deshduniyatoday.com/india-is-giving-preference-to-russia-in-business-than-america/

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]