अजब-गज़ब: अन्तिम संस्कार से पहले अर्थी पर लेटे व्यक्ति ने खोल दी आँखे- When a person opened his eyes before the pyre in Delhi

अजब-गज़ब: अन्तिम संस्कार से पहले अर्थी पर लेटे व्यक्ति ने खोल दी आँखे- When a person opened his eyes before the pyre in Delhi

नई दिल्ली:
देश की राजधानी दिल्ली के नरेला क्षेत्र में एक बड़ा ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहाँ जब एक वृद्ध व्यक्ति को मृत मानकर लोग उसका अन्तिम संस्कार करने जा ही रहे थे कि तभी अचानक उस व्यकि ने अपनी आँखें खोल ली। यह देखकर उस व्यक्ति के परिवार जन और रिश्तेदार भौचक्के रह गए और फ़िर से तुरन्त उंस व्यक्ति को इलाज के लिए हस्पताल में भर्ती कराया गया है। [When a person opened his eyes before the pyre in Delhi]

मामला दिल्ली के नरेला क्षेत्र के टीकरी खुर्द गाँव का है जहाँ एक 62 वर्षीय वृद्घ सतीश भारद्वाज पिछले काफ़ी समय से कैंसर से बीमार चल रहे थे। जिनको एक हॉस्पिटल में वेंटिलेशन पर रखा हुआ था। लेकिन ज़्यादा ख़र्चा होने के चलते उक्त व्यक्ति को परिजन घर ले आये थे। ज्यादा था तो परिवार अस्पताल से घर लेकर चला गया था। आज सोमवार की सुबह परिजनों को लगा कि वृद्ध की मौत हो गई है।

When a person opened his eyes before the pyre
सांकेतिक छवि

इस के बाद परिजनों ने उसके अन्तिम संस्कार की तैयारी शुरु कर दी। जब सभी तैयारियां पूरी हो चुकी और उसको अन्तिम संस्कार के लिए श्मशान घाट लाया गया तो किसी ने देखा कि शव शय्या पर लेटे वृद्ध के चेहरे पर कुछ कुछ हरक़त सी हो रही है। देखते ही देखते वृद्ध ने धीरे-धीरे अपनी आँखें खोल ली। यह मन्ज़र देखकर वहाँ मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। [When a person opened his eyes before the pyre in Delhi]

इस के बाद श्मशान घाट से ही परिजनों द्वारा एम्बुलेंस बुलाकर इलाज के लिए हस्पताल ले जाकर भर्ती करा दिया गया। चिकित्सकों ने चेकअप करके माना कि व्यक्ति जीवित ही हैं और इलाज शुरु कर दिया। कुछ लोगों द्वारा हस्पताल की लापरवाही की बात सामने आने पर पुलिस का कहना है कि “व्यक्ति की मौत नहीं हुई,वो तो ज़िन्दा ही थे,उनको बिना चिकित्सकों की सलाह के ही परिजनों द्वारा डिस्चार्ज कराकर घर ले जाया गया था। हस्पताल ने बीमार व्यक्ति को डिस्चार्ज करते समय पेपर पर लिखा है कि.. मरीज को बिना चिकित्सकों की सलाह के ही परिजनों द्वारा डिस्चार्ज कराकर घर ले जाया गया था। प्रथम दृष्टया इस में हस्पताल की लापरवाही का कोई मामला नहीं दिखाई दे रहा है।” [When a person opened his eyes before the pyre in Delhi]
ये भी पढ़ें- हरियाणा के अम्बाला में सड़क हादसे में 5 की मौत और 8 ज़ख्मी 5 passengers died in road accident in Ambala Haryana

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]