WHO Banned 7 Indian Syrup Products
Posted inHealth / International

WHO Banned 7 Indian Syrup Products: भारतीय खाँसी के सिरप से गाम्बिया सहित दुनिया भर में 300 लोगों की मौतें, WHO ने 7 भारतीय कम्पनियों के कफ़ सिरप के प्रयोग पर लगाया प्रतिबन्ध

WHO Banned 7 Indian Syrup Products: भारतीय खाँसी के सिरप से गाम्बिया सहित दुनिया भर में 300 लोगों की मौतें, WHO ने 7 भारतीय कम्पनियों के कफ़ सिरप के प्रयोग पर लगाया प्रतिबन्ध

 

 

 

WHO Banned 7 Indian Syrup Products– WHO ने अफ्रीकी देश गाम्बिया सहित दुनिया भर में 300 लोगों की मौत के लिए इसे दोषी ठहराते हुए 7 भारतीय खाँसी सिरप निर्माताओं पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। भारतीय सिरप के प्रयोग से हुई इन कथित मौतों के WHO की इस कार्यवाही से भारतीय फ़ार्मास्युटिकल सेक्टर को एक बड़ा झटका लगा है।WHO Banned 7 Indian Syrup Products

वहीं इस सम्बंध में केन्द्रीय स्वास्थ्य मन्त्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि “नक़ली दवाओं को कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। दवाओं की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिये एक व्यापक जोख़िम आधारित विश्लेषण किया जा रहा है। भारत दवाओं की गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं करेगा।” (WHO Banned 7 Indian Syrup Products)

उन्होंने कहा कि “हम यह सुनिश्चित करने के लिये हमेशा सतर्क रहते हैं कि, नक़ली दवाओं से दुनिया में किसी की भी मौत न हो। WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने गाम्बिया में जो 66 बच्चों की मौत के लिये भारतीय कफ़ सिरप को ज़िम्मेदार ठहराया है, भारतीय नियामक प्राधिकरण इन कम्पनियों की जाँच कर रहा है। (WHO Banned 7 Indian Syrup Products)

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार कथित घटिया क्वालिटी की भारतीय खाँसी के सिरप के प्रयोग से पिछले कुछ महीनों में दुनिया भर के उन कई देशों में जहाँ जहाँ भारतीय सिरप एक्सपोर्ट हो रहे हैं, वहाँ पर कथित रूप से अब 300 बच्चों की मौत हो चुकी है। (WHO Banned 7 Indian Syrup Products)

जिसके बाद WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने कफ़ सिरप उत्पादों के अतिरिक्त Vitamin बनाने वाली कम्पनियों की भी जाँच पड़ताल की है। लेकिन WHO ने घटिया क्वालिटी की इन भारतीय ज़हरीली खाँसी की दवाओं की बिक्री को लेकर अब तक 9 देशों में 7 भारतीय सिरप कम्पनियों के उत्पादों के प्रयोग न करने को लेकर अलर्ट जारी किया जा चुका है।
यह भी पढ़ें- अमेरिकी देश होंडुरस की महिला जेल में क़ैदियों के बीच हुई हिंसा में 41 क़ैदियों की मौत