World News Hindi1: मुस्लिमों का नया इस्लामिक देश बनाने को लेकर बड़ा ऐलान

World News Hindi- मुस्लिम समुदाय को एकजुट करने के धार्मिक,सामाजिक व राजनीतिक पहलुओं पर हुई चर्चा

अबू धाबी World News Hindi
UAE की राजधानी अबू धाबी में हाल ही में WMCC (वर्ल्ड मुस्लिम कम्युनिटीज़ काउंसिल) की दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस हुई है,इस कॉन्फ्रेंस में तुर्की, यूएई, रूस, सीरिया, मिस्र और आज़रबैजान सहित विश्व के कई देशों के इस्लामिक धार्मिक नेताओं ने भाग लिया। लेकिन इस कॉन्फ्रेंस में मिस्र के मंत्री ने जो भाषण दिया वह आजकल काफ़ी सुर्खियों में है।

इस मौक़े पर मिस्र के मन्त्री डॉक्टर मोहम्मद मोख्तार गोमा ने विश्व में इस्लामिक एकता क़ायम करने के लिये कहा कि “मुस्लिमों को 2 तरीक़े से ही एकजुट किया जा सकता है, पहला है विवेकशील व तर्कसंगत तरीक़ा है जिस की मिसाल इस कॉन्फ्रेंस में दी जा रही है और दूसरा तरीक़ा है काल्पनिक और सम्भव.. जिस का प्रयोग आतंकी और चरमपंथी अपने अपने निजी स्वार्थ के लिए कर रहे हैं।” World News In Hindi

मोख्तार गोमा ने कहा कि “वर्तमान में किसी नवगठित मुल्क़ के तहत इस्लामिक एकता लाने की नामुमकिन वाली कोशिशें करने के बजाय अपने मुल्क़, अपने झण्डे और अपनी भूमि के प्रति ईमानदारी बरतना बहुत ज़रूरी है।” उन्होंने कहा कि यह (काल्पनिक) बेकार का प्रयास राष्ट्र को कमज़ोर करता है और ग़ैर मुस्लिम समुदायों में रह रहे मुस्लिकों को अलग थलग करता है।”

Sri Lanka crisis: श्रीलंका में हिंसा से हालात बेक़ाबू, स्तीफ़ा दे चुके महिन्द्रा राजपक्षे के पैतृक घर सहित कई राजनेताओं के घरों को हिंसक भीड़ ने किया आग के हवाले

अबूधाबी में आयोजित इस ‘वर्ल्ड मुस्लिम कम्युनिटीज़ काउंसिल कॉन्फ्रेंस’ के पहले दिन UAE के मन्त्री शेख़ नाहयान’ बिन मुबारक ने कहा कि “मुस्लिम कम्यूनिटी में यूनिटी का आधार विज्ञान होना चाहिये।” शेख़ नाहयान बिन मुबारक ने आगे कहा कि “मैं कोई विशेषज्ञ तो नहीं हूँ लेकिन इस्लाम ज्ञान और विज्ञान का मज़हब है इसलिये यह बहुत ज़रूरी है कि विज्ञान और रिसर्च ही मुस्लिम एकता का आधार बने।” World News Hindi

शेख नाहयान बिन मुबारक ने यह भी कहा कि “पर्यावरणीय स्थिरता व खाद्य सुरक्षा जैसे विभिन्न विषयों को इस्लामिक समाज की एकता का केन्द्र होना चाहिये।” उन्होंने कहा कि ” दुनिया में UAE देश सहिष्णुता, राष्ट्र निर्माण और विकास का सबसे बड़ा उदाहरण है।”कॉन्फ्रेंस के दौरान इस्लामिक विशेषज्ञों ने विश्व के मुस्लिम समुदाय को एकजुट करने के लिये धार्मिक,सामाजिक और राजनीतिक पहलुओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की।

पाकिस्तान से आये 800 हिन्दू परिवारों ने भारत में नागरिकता न मिलने के चलते छोड़ना शुरु किया भारत

मैरीलैंड यूनिवर्सिटी ने वर्ष-2016 में वैश्विक आतंकवाद को लेकर एक स्टडी की थी जिस में एक दशक में 70,767 आतंकवादी हमलों पर ग़ौर किया गया था। और इस स्टडी से यह पता चला था कि इन में से 85% हमले ISIS और अल-क़ायदा आतंकी समूहों ने मुस्लिम बाहुल्य देशों में ही किये और इन हमलों के पीड़ितों में अधिकांशतः मुस्लिम ही थे। World News Hindi

इस मौक़े पर ‘वर्ल्ड मुस्लिम कम्युनिटीज़ काउंसिल’ के महासचिव ने ‘द नेशनल वेबसाइट’ से कहा कि “यह कॉन्फ्रेंस इस्लामिक एकता की सही समझ की दिशा में पहला क़दम है।” उन्होंने कहा कि “आज मुस्लिम समाज के अन्दर भी आपसी फूट है जिसे हल करने की ज़रुरत है।

सुन्नी समुदाय के मुस्लिमों को बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है जबकि शिया समूह आज इस कार्यक्रम में मौजूद हैं और भविष्य में इस प्रकार की बातचीत और आगे बढ़ाना होगा।” (World News Hindi )World News Hindi1

Author: Desh Duniya Today [Farhad Pundir]